Thursday, Feb 25, 2021
-->
cpm leader yechury if you want to defeat the bjp distance from the tmc is necessary prshnt

CPM नेता सीताराम येचुरी की राय, BJP को हराना है तो विरोधी दलों की TMC से दूरी जरूरी

  • Updated on 1/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) जैसे-जैसे करीब आता जा रहा है वैसे ही राज्य में राजनीतिक गतिविधिया तेज होती जा रही है। इसी बीच सीपीएम (CPM) महासचिव सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी का मुख्य मकसद आगामी पश्चिम बंगाल चुनावों में बीजेपी को हराना है। लेकिन इसके लिए वह तृणमूल कांग्रेस को साथ नहीं लेना चाहते। उन्होंने इसका कारण बताते हुए कहा कि, ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ लोगों में काफी नाराजगी है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही लोग तृणमूल के पिछले 20 वर्षों के रेकॉर्ड से अच्छी तरह परिचित हैं।

गुजरात: गांधीनगर में आज से RSS का तीन दिवसीय सम्मेलन, भागवत- नड्डा होंगे शामिल

गैर-वाम सहयोगियों के साथ चुनावी गठबंधन
दरअसल सीताराम येचुरी पार्टी ने राज्य समिति की बैठक में हिस्सा लेने के बाद कहा कि मार्क्सवादियों का कांग्रेस और अन्य वाम दलों जैसे पारंपरिक सहयोगियों के अलावा एनसीपी और आरजेडी जैसे गैर-वाम सहयोगियों के साथ चुनावी गठबंधन होगा। उन्होंने आगे कहा, तृणमूल सरकार के खिलाफ लोगों की भावना इतनी गहरी है कि बीजेपी विरोधी सभी दलों की कोई एकता सिर्फ बीजेपी को ही अधिक मदद करेगी। येचुरी ने कहा कि लोगों में तृणमूल सरकार के खिलाफ काफी नाराजगी है। तृणमूल के साथ गठबंधन करने से ही लोग हमारे खिलाफ हो जाएंगे और बीजेपी की मदद करेंगे।

गुजरात: गांधीनगर में आज से RSS का तीन दिवसीय सम्मेलन, भागवत- नड्डा होंगे शामिल

आजीविका के मुद्दों पर सरकार दें विकल्प
येचुरी ने कहा कि बीजेपी और तृणमूल आगामी चुनावों को द्विपक्षीय मुकाबला के तौर पर पेश कर रहे हैं, लेकिन उनका विरोध करने वाली ताकतें इसे तोड़ देंगी। उन्होंने कहा, हमारा मकसद बीजेपी को हराना और तृणमूल को अलग करना है। लोगों को उनकी आजीविका के मुद्दों पर विकल्प दें, नौकरी, भोजन, स्वास्थ्य और शिक्षा के मुद्दे पर ध्यान केंद्रित करें।

किसान आंदोलन: ट्रैक्टर में सवार महिलाएं कर रही दिल्ली कूच, 26 जनवरी को परेड की चेतावनी

ममता बनर्जी के खिलाफ एक विवादित ट्वीट
बता दें कि हाल ही में तृणमूल कांग्रेस की महिला नेताओं ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी के खिलाफ एक विवादित ट्वीट करने का आरोप लगाया और इस बात के लिए उनकी आलोचना की।

कैलाश विजयवर्गीय ने बनर्जी की एक तस्वीर साझा की जिसमें वह एक आदिवासी गांव में खाना पकाती नजर आ रही हैं। विजयवर्गीय ने तस्वीर के साथ लिखा, दीदी ने पहले ही वह काम करना शुरू कर दिया है जो उन्हें पांच महीने बाद करना होगा। बनर्जी का यह फोटा बल्लवपुर गांव में खींचा गया था जहां वह पिछले सप्ताह बीरभूम जिले से कोलकाता लौटते वक्त कुछ देर के लिए रूकी थीं। राज्य में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं।

COVID-19: क्या आप जानते हैं देशभर में मुफ्त मिलने वाली कोरोना वैक्सीन की कीमत?

काकोली घोष दस्तीदार ने किया था ट्वीट
इस ट्वीट पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए तृणमूल कांग्रेस की सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने ट्वीट किया, 'यदि आप महिला हैं और आपकी सक्रिय राजनीति से जुड़ने की आकांक्षा है तो याद रखिए, हमारे देश में इन जैसे भाजपा के स्त्री-द्वेषकर्ताओं की भीड़ है जो महिलाओं को रसोईघर में वापस भेजना चाहते हैं।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरे...

 

comments

.
.
.
.
.