Friday, Sep 30, 2022
-->
criminal gangs may sell fake commentary of covid-19 interpol warns prsgnt

चेतावनी! अपराधी गिरोह कोरोना वैक्सीन का नकली टीका बेचने की फिराक में- इंटरपोल

  • Updated on 12/3/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इंटरपोल ने सभी 194 सदस्य देशों को जारी किए गए ‘ऑरेंज नोटिस’ में चेतावनी दी है कि कोविड-19 (Coronavirus) और फ्लू के नकली टीकों का उत्पादन, चोरी और अवैध प्रचार किया जा सकता है।

इंटपोल की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया, “इसमें नकली टीके के प्रचार, बिक्री और ऐसे टीके लगाने संबंधी अपराध भी शामिल हैं।”

बता दें, सार्वजनिक सुरक्षा पर गंभीर खतरे वाले व्यक्ति, वस्तु या आयोजन की चेतावनी देने के लिए इंटरपोल ‘ऑरेंज नोटिस’ जारी करता है। भारत में सीबीआई, इंटरपोल के साथ तालमेल कर काम करती है।

ये हैं वो कोरोना वैक्सीन बनाने वाले वैज्ञानिक जो दुश्मन देश से होने के बाद भी इंसानियत के लिए हुए एक

यह चेतावनी ऐसे समय आई है जब ब्रिटेन, पश्चिमी देशों में पहला देश बन गया है जिसने कोविड-19 के एक टीके को मंजूरी दी है। इस टीके को लेकर दावा किया गया है कि यह टीका कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए 95 प्रतिशत तक कारगर रहा है। खास बात यह है कि यह वैक्सिन फिलहाल भारत को मिलने जा रही है।

इस आशंका को देखते हुए इंटरपोल ने पुलिस विभागों से “आपूर्ति श्रृंखला” यानी सप्लाई चैन को सुरक्षित करने को कहा है। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय संगठन ने नकली उत्पाद बेचने वालीं अवैध वेबसाइट की पहचान करने को भी कहा है।

वैक्सीन को लेकर आई Good News, 30 करोड़ लोगों को मिलेगी फ्री Vaccine

इंटरपोल के महासचिव जुरगेन स्टॉक ने एक वक्तव्य में कहा, “अपराधी गिरोह नकली वेबसाइट और फर्जी इलाज के दावों से लोगों को निशाना बना सकते हैं। इससे लोगों के स्वास्थ्य और उनके जीवन को खतरा हो सकता है।” अधिकारी ने कहा, “यह आवश्यक है कि कानून व्यवस्था की एजेंसियां कोविड-19 के टीके से संबंधित आपराधिक कृत्यों के लिए तैयार रहें, इसलिए इंटरपोल ने यह चेतावनी जारी की है।”

दिल्ली में कोरोना संकट: HC से बोली केजरीवाल सरकार नहीं लगाएंगे नाइट कर्फ्यू

आशंका की शुरूआत वहां से होती है जहां से टीके के रखरखाव से जुड़ी सावधानियां बरतने की बात सामने आती है। चूंकि इस टीके को शून्य से 70 डिग्री नीचे के तापमान पर रखना होगा और इसे विशेष बक्से में एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाया जाएगा। एक बार आपूर्ति हो जाने पर इसे पांच दिनों तक फ्रिज में रखा जा सकता है।

ब्रिटिश सरकार ने कहा कि उसे यकीन है कि फाइजर-बायोएनटेक टीके के वितरण के लिए शीत भंडारण केंद्रों के संबंध में कोई समस्या नहीं होगी। फ्रिज में भंडारित करने पर इसे दो से आठ डिग्री सेल्सियस तापमान पर पांच दिन तक रखा जा सकता है। यही से चूक होने की संभावना बनती है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.