Saturday, Oct 31, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 31

Last Updated: Sat Oct 31 2020 03:22 PM

corona virus

Total Cases

8,139,081

Recovered

7,432,397

Deaths

121,699

  • INDIA8,139,081
  • MAHARASTRA1,672,858
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA820,398
  • TAMIL NADU722,011
  • UTTAR PRADESH480,082
  • KERALA425,123
  • NEW DELHI381,644
  • WEST BENGAL369,671
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA290,116
  • TELANGANA238,632
  • BIHAR215,964
  • ASSAM206,015
  • RAJASTHAN195,213
  • CHHATTISGARH185,306
  • CHANDIGARH183,588
  • GUJARAT172,009
  • MADHYA PRADESH170,690
  • HARYANA165,467
  • PUNJAB133,158
  • JHARKHAND101,287
  • JAMMU & KASHMIR94,330
  • UTTARAKHAND61,915
  • GOA43,416
  • PUDUCHERRY34,908
  • TRIPURA30,660
  • HIMACHAL PRADESH21,577
  • MANIPUR18,272
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,305
  • SIKKIM3,863
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,246
  • MIZORAM2,694
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
crpf jawans saved lives of 3 year old grandson of kashmiri citizen rkdsnt

CRPF जवानों ने जान पर खेल कर कश्मीरी नागरिक के 3 साल के पौत्र की बचाई जान

  • Updated on 7/1/2020


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू कश्मीर के सोपोर कस्बे में एक मस्जिद में छिपे आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के एक गश्ती दल पर गोलीबारी की जिसमें एक जवान शहीद हो गया जबकि एक आम नागरिक मारा गया। अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने गोलियों की बौछार के बीच मारे गए आम नागरिक के तीन साल के पौत्र को बचा लिया। अधिकारियों ने बताया कि यहां के करीब 50 किलोमीटर उत्तर में सुबह 8 बजे के थोड़ी देर बाद यह हमला हुआ। इस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के तीन जवान घायल हुए हैं। हमले के बाद इलाके में दहशत मच गई।  

पिंजरा तोड़ की सदस्य ने कोर्ट से जेल में हेडफोन उपलब्ध कराए जाने का अनुरोध किया

अधिकारियों ने कहा कि सीआरपीएफ कर्मी नियमित गश्त पर थे और उन्होंने आतंकियों पर जवाबी गोलीबारी की लेकिन वे वहां से बचकर निकल गए। यह साफ नहीं हो पाया है कि मस्जिद के अंदर कितने आतंकी छिपे थे। अधिकारियों ने घटना के बारे में बताया कि जब लोग हमले के बाद जान बचाने के लिये वहां से भाग रहे थे तभी अपने पोते के साथ कार में सफर कर रहे 60 वर्षीय बशीर खान अपनी कार छोड़ जान बचाने के लिये भागे, लेकिन वी मारे गए। 

दिल्ली हाई कोर्ट ने बैंक्वेट हॉल की याचिकाओं पर केजरीवाल सरकार से मांगा जवाब

जब सीआरपीएफ कर्मियों ने बच्चे को अपने दादा के शव के पास रोते हुए देखा तो उनमें से एक उसे बचाने के लिये आगे बढ़ा जबकि उसके साथियों ने उसे सुरक्षा प्रदान करने के लिये कवर फायर दिया। इस घटना के बाद खान के बेटे के इस आरोप पर तीखी बहस शुरू हो गई कि उसके पिता को गाड़ी से खींचकर सुरक्षा बलों ने गोली मारी। सीआरपीएफ ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है। सोशल मीडिया पर अपने दादा के शव के पास रोते बच्चे की तस्वीरें वायरल होने के बाद इस बहस को और हवा मिली।  

JNU ने दिल्ली हाई कोर्ट में दिव्यांगों के आरक्षण को लेकर दी सफाई

सीआरपीएफ के अतिरिक्त महानिदेशक जुल्फिकार हसन ने सोपोर में संवाददाताओं को बताया, 'नागरिक की हत्या आतंकवादियों द्वारा की गई और सोशल मीडिया पर यह सारा शोर सीमा पार से करवाया जा रहा है।’’ उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ और दूसरी सुरक्षा एजेंसियां धार्मिक स्थलों का बेहद सम्मान करती हैं और कोई यह सोच भी नहीं सकता कि आतंकवादी छिपने के लिये मस्जिद का इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने मुठभेड़ के दौरान जवानों के धैर्य और त्वरित सोच की सराहना की।      

कोरोनिल को लेकर हाई कोर्ट ने बाबा रामदेव, राज्य, केंद्र को जारी किए नोटिस

मुठभेड़ के बाद पुलिस अधिकारी इलाके के प्रबुद्ध नागरिकों के साथ मस्जिद के अंदर गए और उन्हें मस्जिद की दीवार पर खून के धब्बे नजर आए। हमले में 3 अन्य साथियों के साथ घायल हुए सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल दीप चंद वर्मा को अस्पताल पहुंचने पर मृत घोषित कर दिया गया। श्रीनगर के मुस्तफाबाद में एचएमटी इलाके में रहने वाले खान के बेटे के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए एक अधिकारी ने कहा, 'किसी को भी हैरानी होनी चाहिए कि मुठभेड़ स्थल से 50 किलोमीटर दूर रहते हुए कोई इस नतीजे पर कैसे पहुंच सकता है कि ऐसी कोई चीज हुई।’’ बेटे ने कहा कि उसके पिता सुबह छह बजे निजी काम से पोते के साथ सोपोर के लिये निकले थे। 

पूर्व जस्टिस लोकूर बोले- न्यायपालिका तय करे कि अधिकारों का अतिक्रमण न कर पाए पुलिस

जम्मू कश्मीर पुलिस ने बाद में सुरक्षा बलों द्वारा बचाए गए बच्चे की तस्वीर अपने आधिकारिक टविटर हैंडल पर डालते हुए लिखा, च्च्सोपोर में आतंकी हमले के दौरान मुठभेड़ में एक तीन साल के बच्चे को गोली लगने से बचाया गया।’’ गोलीबारी में सीआरपीएफ के कांस्टेबल बी. राजेश, दीपक पाटिल और नीलेश चावड़े घायल हो गए। उन्हें एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.