cyclone-alert-in-areas-of-lakshadweep-on-11th-june

चक्रवात 'वायु' को लेकर गुजरात सरकार और सेना मुस्तैद

  • Updated on 6/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जहां देश के लोग गर्मी की प्रचंड मार झेल रहे हैं वहीं अब मौसम विभाग (Weather Department) ने अरब सागर (Arabian Sea) में उठने वाले चक्रवात (Cyclone) 'वायु' को लेकर गुजरात सरकार और सेना हाई एलर्ट (High Alert) है। जानकारों के मुताबिक लक्षद्वीप (Lakshadweep) के दक्षिणपूर्व और पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। आशंका जताई जा रही है कि ये दबाव आने वाले 12 घंटों में और भी गहरा सकता है जिससे अगले 24 घंटों में चक्रवात आने की पूरी संभावना है। इन संभावनाओं को देखते हुए कैबिनेट सचिव की  पी.के. सिन्हा (P k sinha) की आज शाम को  एनसीएमसी(NCMC) की बैठक होगी। इसके अलावा गृहमंत्री अमित शाह ने  चक्रवात वायु की समीक्षा करने के लिए एक उच्चस्तरीय बैठक की है।  

इसके साथ ही बताया जा रहा है कि ये चक्रवात उत्तर-उत्तरपश्चिम दिशा की ओर जल्द टकराने को तैयार है। जिसके कारण लक्षद्वीप के साथ-साथ उससे सटा दक्षिणपूर्व और पूर्व-मध्य अरब सागर अशांत रहेगा और उसमें लगातार लहरें उठती रहेंगी।

राजधानी दिल्ली में टूटा गर्मी का रिकॉर्ड, इतने डिग्री तक पहुंचा गर्मी का तापमान

31 किमी प्रति घंटे की स्पीड से बढ़ रहा दबाव
इस चक्रवात की जानकारी देते हुए मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 11 जून को चक्रवात अपना असर दिखा सकता है जिससे मध्य और दक्षिणपूर्व अरब सागर में ऊंची लहरें उठते देखा जा सकता है। उन्होंने बताया कि अरब सागर पर बना हुआ दबाव लगातार 31 किमी प्रति घंटे की तेजी से उत्तर की ओर बढ़ रहा है। चक्रवात से होने वाली तबाही से बचने के लिए सभी मछुआरों को सलाह दी गई है कि वो कुछ दिनों तक केरल तट, लक्षद्वीप और उससे लगे दक्षिणपूर्व अरब सागर में ना जाएं।

108 घंटे के बाद निकाला गया 15O फीट गहरे बोरवेल में गिरा 2 साल का फतेहवीर, हुई मौत

गुजरात में भी रहेगा असर
बताया जा रहा है कि इस चक्रवात का असर 12 जून को गुजरात में भी रहेगा जो कि 13 और 14 जून तक देखा जा सकेगा। इसमें सबसे ज्यादा प्रभावित होगा सौराष्ट्र (Saurashtra) और कच्छ (Kutch) का क्षेत्र जहां पर करीबन 100 किमी प्रति घंटे की स्पीड से हवा चलने और भारी बारिश होने की संभावना है। चक्रवात से प्रभाव से बचने के लिए गुजरात सरकार (Gujarat Government) के साथ भी बैठक की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.