cyclone-vayu-can-be-strong-even-after-hitting-gujarat-coast-imd-ndrf-ready-for-help

गुजरात तट पर टकराने के बाद भी सशक्त रह सकता है चक्रवात वायु

  • Updated on 6/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चक्रवात वायु के ‘बेहद गंभीर’ की श्रेणी में आने के कारण गुजरात के दस जिलों में अलर्ट घोषित कर दिया गया है और गुरूवार को तट से टकराने के 24 घंटे बाद तक इसका असर बने रहने की आशंका है। 

CBDT ने लंबित पड़े सतर्कता मुद्दों पर 4 आयकर अधिकारियों की रैंक घटाई

चक्रवात वायु : गुजरात में परिवहन सेवाएं, बंदरगाह पर कामकाज रोका

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 45 सदस्यों वाले राहत दल की करीब 52 टीमें गठित की गई हैं और सेना की दस टुकडिय़ों को तैयार रखा गया है। इसके अलावा भारतीय नौ सेना के युद्धपोतों और विमानों को भी तैयार रहने को कहा गया है। 

पवार ने EVM को लेकर जताया संदेह, बोले- दिल्ली में विपक्ष करेगा बैठक

गृह मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान हवा की रफ्तार 170 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। इसे देखते हुये दस जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। वायु, ‘अधिक खतरनाक’ श्रेणी में प्रवेश कर गया है और इसके अगले 24 घंटों में पोरबंदर और संघ शासित प्रदेश दीव के तटों से टकराने के बाद भी अधिक तीव्र होने की आशंका जताई गई है जबकि सामान्य तौर पर एक तूफान तट पर टकराने के बाद कमजोर हो जाता है।

अमित शाह का राज्यपालों से मुलाकात का सिलसिला जारी

पीएम मोदी ने नृपेंद्र मिश्रा और पीके मिश्रा पर फिर से जताया भरोसा

 गुजरात के कई जिलों के निवासी सुरक्षित स्थानों पर या चक्रवात राहत केद्रों में चले गए हैं।  बुधवार को गृहसचिव राजीब गौबा ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की एक बैठक की अध्यक्षता की और राहत एवं बचाव अभियान की तैयारियों का जायजा लिया।  

अरविंद सुब्रमणियम ने GDP आंकड़ों पर मोदी सरकार को दिखाया आईना

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.