Saturday, Jul 20, 2019

दलाई लामा ने महिलाओं पर की गई टिप्पणी के लिए मांगी माफी

  • Updated on 7/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दलाई लामा ने बीबीसी पर हाल ही में दिए गए साक्षात्कार के दौरान महिलाओं पर की गई अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांग ली। उनके कार्यालय ने कहा कि तिब्बत के आध्यात्मिक नेता ने हमेशा महिलाओं को एक उत्पाद की तरह पेश किए जाने का विरोध किया है। साक्षात्कार के दौरान उनसे पूछा गया था कि उनका उत्तराधिकारी एक महिला हो सकती है तो इस पर उन्होंने हंसते हुए कहा था कि उसे आकर्षक होना चाहिए। 

केजरीवाल सरकार ने मानसून से पहले वर्षा जल संचयन को लेकर उठाया बड़ा कदम

दलाई लामा के कार्यालय ने यहां एक बयान जारी किया जिसमें कहा गया है कि आध्यात्मिक नेता का मकसद किसी को चोट पहुंचाना नहीं था। और उन्हें बेहद दुख है कि उनकी बात से लोगों को दुख पहुंचा है। उन्होंने माफी की पेशकश की है। वहीं इसी साक्षात्कार में यूरोप में शरणार्थी संकट के सवाल पर दिए गए जवाब को लेकर उनके कार्यालय ने कहा कि हो सकता है उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया हो। 

कोलकाता एयरपोर्ट पर रनवे से फिसला स्पाइसजेट का विमान, यात्री सुरक्षित

तिब्बत के आध्यात्मिक नेता खुद निर्वासित हैं। उन्होंने कहा था कि यरोप को एक निश्चित सीमा तक ही शरणार्थियों को लेना चाहिए और उनका लक्ष्य होना चाहिए कि वह उन्हें उनके देश भेजें।  उन्होंने कहा, ‘‘ लेकिन क्या पूरा यूरोप मुस्लिम देश बन जाएगा? असंभव। या फिर अफ्रीकी देश बन जाएगा। यह भी असंभव। यूरोप को यूरोपीय लोगों के लिए ही रखें।’’      

बैंकों कर्ज लौटाने में हेराफेरी करने वालों के खिलाफ CBI की छापेमारी

बयान में कहा गया कि अनौपचारिक रूप से दिए गए बयान में कभी-कभी ऐसा होता है। हो सकता है कि किसी एक सांस्कृतिक परिपेक्ष्य में यह अच्छा हो लेकिन जब यह किसी और अन्य में लाया जाता है तो अनुवाद में उसका हास्य खो जाता है। 

सनी देओल को अपना प्रतिनिधि रखना पड़ा भारी, जमकर हुई खिंचाई

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.