Sunday, May 22, 2022
-->
dcpcr-will-give-children-champion-awards-if-work-is-done-for-children

बच्चों के लिए किया है काम तो डीसीपीसीआर देगा चिल्ड्रंस चैंपियन अवाड्र्स

  • Updated on 4/28/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग (डीसीपीसीआर) द्वारा बच्चों के लिए महत्वपूर्ण योगदान देने वालों को चिल्ड्रंस चैंपियन अवाड्र्स से नवाजे जाने की धोषणा की गई है। यह पुरस्कार पूरे भारत के लिए होंगे, जिनमें 12 श्रेणियों जैसे राजनीति, न्यायविद्, पत्रकारिता, शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण, बाल संरक्षण, कला, शिक्षा, खेल, व्यवसाय और लोक सेवा में प्रदान किए जाएंगे। 
शिवाजी स्टेडियम को एनडीएमसी बनाएगी बस टर्मिनल सह वाणिज्यिक परिसर

पुरस्कार में प्रमाण पत्र, पट्टिका व 75 हजार रूपए का मिलेगा चेक
बता दें कि समस्याओं को हल करने में नेतृत्व प्रदर्शित करने वाले बच्चों को पहचानने के लिए एक अलग श्रेणी है। इस अवार्ड के लिए कोई भी व्यक्ति किसी भी व्यक्ति या संस्था को नामांकित कर सकता है, जिसने बच्चों के लिए योगदान दिया हो। यह पुरस्कार बच्चों के संघर्षों की कहानियों को सामने लाने, बच्चों के कल्याण के लिए किए जा रहे शानदार काम को उजागर करने और पहचानने के लिए है। पुरस्कार में प्रमाण पत्र, पट्टिका और 75 हजार रूपए का चेक शामिल है। पुरस्कार विजेताओं का फैसला करने के लिए एक ज्यूरी होगी, जिसमें सभी विषयों के प्रतिष्ठित लोग शामिल होंगे। नामांकन डीसीपीसीआर की वेबसाइट  https://dcpcr.delhi.gov.in/award-nomination-form पर उपलब्ध कराए गए फॉर्म के माध्यम से किया जाएगा। नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 15 जून 2022 है। 
आश्रयगृहों को लेकर डीसीडब्ल्यू ने डब्ल्यूसीडी को भेजा नोटिस

अच्छे काम का जश्न मनाने से प्रोत्साहन मिलता है : अनुराग कुंडू
डीसीपीसीआर के अध्यक्ष अनुराग कुंडू ने कहा कि अच्छे काम का जश्न मनाने से अच्छे काम को बढ़ावा और प्रोत्साहन मिलता है। हम अपने बच्चों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए सामूहिक  लक्ष्य के लिए सभी क्षेत्रों के व्यक्तियों और संस्थानों को खोजना चाहते हैं जो विभिन्न स्तरों पर काम कर रहे हैं।
डीडीयू कॉलेज में दिल्ली पुलिस ने किया छात्राओं को जागरूक

डीसीपीसीआर का यह कदम अद्भूत : कैलाश गहलोत
डीसीपीसीआर द्वारा इस अवार्ड की धोषणा पर दिल्ली सरकार में डब्ल्यूसीडी मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि बच्चों के मुद्दों में योगदान देने वाले लोगों को पहचानने और उन्हें पुरस्कृत करने के लिए डीसीपीसीआर द्वारा यह एक अद्भूत पहल है। इससे शासन को बच्चों के स्वास्थ्य, शिक्षा और सुरक्षा पर केंद्रित रखने में मदद मिलेगी। मैं विशेष रूप से बच्चों को पहचानने और पुरस्कार देने की श्रेणी को देखकर बहुत खुश हूं। यह शुरुआती चरण में ही नेतृत्व को बढ़ावा देगा और समस्या हल करने व भारत के निर्माण में मदद करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.