Wednesday, Dec 01, 2021
-->
dcw president swati maliwal health improving lnjp hospital

मालीवाल की सेहत में सुधार के बाद अस्पताल से मिली छुट्टी, जामिया के छात्रों से की ये अपील

  • Updated on 12/17/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। महिला सुरक्षा और बालात्कारियों के लिए फांसी की मांग को लेकर वो लगातार 12 दिन से धरने पर बैठी थी। रविवार को हालत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। अब उनकी हालत में सुधार बताया जा रहा है।

स्वाति मालीवाल की हालत रविवार को बिगड़ने के बाद उन्हें लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल ले जाया गया था। जहां सोमवार को दूसरे दिन उनकी तबियत पहले से अब बेहतर बताई गई। 

मालीवाल ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा है कि अभी भी शरीर में बहुत ज़्यादा कमज़ोरी है पर आज मैं बेहतर महसूस कर रही हूं। आशा है जल्द ही LNJP हस्पताल से डिस्चार्ज हो जाऊंगी। 13 दिन का अनशन तो खत्म हुआ पर हौसले और बुलंद हुए हैं। देश में रेप के खिलाफ सख्त सिस्टम बनवाके ही मानेंगे! जय हिंद!

जामिया में छात्रों पर हुई बर्बरता की करी निंदा
अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद मालीवाल ने जामिया में छात्रों के साथ हुई बर्बता की कड़ी निंदा की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि विरोध हमेशा शांतिपूर्वक होना चाहिए। दिल्ली के छात्रों के साथ लाइब्रेरी तक में घुस के पुलिस द्वारा बर्बरता से मारपीट बहुत दुखद है। ये लोकतंत्र के लिए बहुत खतरनाक है। आशा करती हूं जल्द ही शांति का माहौल स्थापित होगा। अगर किसी लड़की की कम्प्लेंट है तो हमसे जरूर सम्पर्क करें!

मालीवाल का अनशन खत्म! गंभीर हालत को देख डॉक्टर्स ने जबरन चढ़ाया ग्लूकोज

निर्भया की 7वीं बरसी पर देशवासियों को मालीवाल ने लिखा पत्र
स्वाति ने बीमार होने के बावजूद भी निर्भया की 7वीं बरसी पर देशवासियों को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने कहा कि आज भी खौफनाक रात खत्म नहीं हुई है क्योंकि अलग-अलग जगहों पर हजारों निर्भयाएं उसी दर्दनाक हादसों से गुजर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि रोजाना देशभर की हजारों बच्चियों के खून होते हैं, लेकिन देश की सोती हुईं सरकारें व नेता हाथ पर हाथ धरे बैठे हुए हैं।

निर्भया की मां ने स्वाति मालिवाल से की मुलाकात, की अनशन तोड़ने की अपील

12 दिन किया लगातार अनशन
बता दें कि हैदराबाद पशु चिकत्सक के साथ गैंग रेप और जिंदा जलाकर मार देने की घटना के बाद मालीवाल 3 दिसंबर को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठी थी। 12 दिन लगातार अनशन करने के बाद रविवार को 13वें दिन उनकी हालत खराब हो गई थी। मालीवाल बेहोश होकर गिर पड़ी, जिसके बाद उनके एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

comments

.
.
.
.
.