Wednesday, Jun 29, 2022
-->
DDMA will take decision of school reopening after this festive season KMBSNT

दिल्ली: त्योहारों के बाद होगा 8वीं तक के स्कूलों को खोलने पर विचार

  • Updated on 9/30/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना संक्रमण के कंट्रोल में होने के मद्देनजर दिल्ली में छठी से आठवीं तक के स्कूलों को खोलने का रास्ता साफ हो गया है। फेस्टिव सीजन के बाद इन कक्षाओं के लिए स्कूल को खोलने की अनुमति दी जाएगी। माना जा रहा है कि इसके तहत छठी के से आठवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए दिवाली के बाद नवंबर से स्कूल खुल सकते हैं।

डीडीएम में आज गुरुवार को इस बाबत आदेश जारी करेगा। उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में बुधवार को डीडीएमए की बैठक हुई. डीडीएमए में माना है कि दिल्ली में कोरोनावा यरस हलात अच्छे हैं। लेकिन सतर्कता बरतना जारी रखना होगा।

डीडीएमए ने गत 1 सितंबर से नवी कक्षा से बारहवीं तक के दिल्ली के सभी सरकारी और निजी स्कूलों को कक्षाएं शुरू करने की इजाजत दी थी। इस बारे में चर्चा हुई और विशेषज्ञों ने कहा कि इन कक्षाओं को शुरू करने के बाद स्थिति सामान्य रही है। 

क्या आपने भी घर की नाली के ऊपर बना रखा है अवैध रैंप, अब होगी कार्रवाई

17 महीने से सभी स्कूल और कॉलेज थे बंद
बता दें कि कोरोना महामारी के कारण करीब 17 महीने से सभी स्कूल और कॉलेज बंद थे। 9वीं से 12वीं तक के स्कूल खुलने पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जाहिर की थी। साथ ही सरकारी स्कूलों को लेकर बनाया गया एक वीडियो चार लाइनों के साथ शेयर किया था। जिसमें संकल्प व्यक्त किया 'हम तैयार हैं बाधाओं से आगे बढ़ेंगे और नया इतिहास गढ़ने के लिए हम तैयार हैं।'

इस वीडियो के माध्यम से उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि कोरोना बचाव के नियमों का सख्ती से पालन करना है। मास्क लगाना है और शारीरिक दूरी का पालन करना है और फिर से पहले की तरह कक्षाओं में बैठकर पढ़ाई करनी है। प्रयोगशाला में जाना है। पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भाग लेना है।

पीरामल ग्रुप ने कर्ज में डूबी DHFL का अधिग्रहण किया पूरा, चुकाए 34,250 करोड़ रुपये

9वीं से 12वीं तक के लिए DDMA ने दिशा-निर्देश
दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने स्कूल और कॉलेजों को फिर से खोलने के संबंध दिशा निर्देश में कहा है कि विद्यार्थियों की अनिवार्य रूप से थर्मल स्क्रीनिंग हो। भोजन अवकाश चरणबद्ध तरीके से हो। कक्षा में विद्यार्थियों के बीच उचित दूरी का पालन हो और आगंतुकों को जाने से रोका जाए। डीडीएमए ने कहा कि कोविड-19 निरुद्ध क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थियों शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों को स्कूल और कॉलेजों में आने की अनुमति नहीं है।

comments

.
.
.
.
.