Wednesday, May 18, 2022
-->
decorate is on the edge of saree and dupatta, so you have to come to the kinari market

सजानी है साड़ी व दुपट्टे की किनारी, तो आना पडे़गा दिल्ली के किनारी बाजार

  • Updated on 10/5/2021

नई दिल्ली। अनामिका सिंह। महिलाओं को सजने-संवरने का बेहद शौक होता है। यही वजह है कि घंटों वो मार्केटिंग कर सकती हैं। इसमें भी यदि उन्हें अपनी खुद की ड्रेस डिजाइन करनी हो तो वो एक नहीं बल्कि पूरी दिल्ली का चक्कर काट सकती हैं। खासकर अपनी साडी व दुपट्टे की किनारी सजाने के लिए। अगर आपको भी अपने कपडों में कुछ ना कुछ नए बदलाव या फिर परंपरागत काम करवाने का शौक है तो आप एक बार चांदनी चौक के किनारी बाजार जरूर जाइए। सच बताएं तो इस बाजार में महिलाएं पूरा दिन खो सकती हैं और अपनी मनपसंद लैस, लटकन व रिबन की खरीदारी कर सकती हैं और वो भी जायज दामों में।
आखिर क्यों बन गए खास, राखीगढी के माउंट 4 से 7

250-300 दुकानें हैं जहां मिलते हैं कपडों को सजाने के सामान
जी हां, ये बिल्कुल सच है कि शायद ही कोई ऐसी महिला हो जिसे रंगीन कपडे पहनने का शौक ना हो। खासकर साडी व दुपट्टे में किनारी लगवाने का। पूरी दिल्ली में इसके लिए एक ही थोक मार्केट काफी मशहूर है और वो है मुगलिया मार्केट चांदनी चौक का किनारी बाजार। वैसे तो यहां पहले सर्राफा बाजार हुआ करता था लेकिन अब इसकी एक गली जिसमें तकरीबन छोटी-बडी मिलाकर 250-300 दुकानें होंगी उसमें सजावट का सामान मिल जाएगा। यहां करीब 35 सालों से कंवर जैन एंड संस के नाम से दुकान चलाने वाली तीसरी पीढी के नमन ने बताया कि उनकी दुकान पर करीब 3 से 4 हजार वेरायटी के लैस मिल जाएंगे, वहीं बात यदि लटकन की करें तो हजारों वेरायटी उसमें मिलेंगी। लेकिन महिलाएं आजकल स्टोन की बजाए कपडों पर जरदोजी का काम किए लटकन को काफी पसंद कर रही हैं। वहीं बारीक रेशमी में कढाई व जरदोजी के साथ ही स्टोन लगे लैसों को काफी पसंद किया जाता है। शाॅटन के रिबन की काफी डिमांड भी यहां रहती हैं जोकि काफी सस्ते दामों में मिलती हैं।
मानव विकास की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है राखीगढी साईट

30 से 3 हजार तक के मिलेंगे लैस
नमन ने बताया कि उनकी दूकान पर लैस की शुरूआती कीमत 30 रूपए से है और अधिकतम कीमत 3000 रूपए तक है। लेकिन इसके लिए आपको पूरा गुच्छा लेना होगा मीटर के हिसाब से काटकर लैस यहां नहीं दिया जाता है। वहीं लटकन का शुरूआती दाम 50 से 400 रूपए तक का है। 

टेलरिंग का सामान भी मिलता है कम दामों में
किनारी बाजार मंे आपको सिर्फ लैस और लटकन ही नहीं बल्कि पोशाक को सजाने के लिए बटन, रंगीन धागे, तरह-तरह के दुपट्टे भी मिलेंगे। सही कहें तो किनारी बाजार दर्जी व फैशन डिजाइनरों के लिए किसी स्वर्ग की तरह है, जहां हर ओर उन्हें रंगीन फीते टंगे हुए मिल जाएंगे जोकि बरबस अपनी ओर आपको आकर्षित किए बिना नहीं छोडेंगे।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.