Friday, May 14, 2021
-->
deep-sidhu-who-is-accused-of-inciting-violence-on-the-red-fort-while-tractor-rally-prsgnt

जानिए कौन है दीप सिद्धू, जिन पर लग रहे हैं किसानों के ट्रैक्टर मार्च में हिंसा भड़काने के आरोप...

  • Updated on 1/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बीते दिन गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन किसानों ने दिल्ली में टैक्टर रैली निकाली। यह रैली सेन्ट्रल दिल्ली में आने के बाद उग्र हो गई और दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच हिंसक झड़प हो गई। इतना ही नहीं, किसानों की तरफ से कुछ लोगों ने लाल किले पर जाकर निशान साहिब का झंडा भी फहराया। 

हालांकि इन घटनाओं और हिंसक झड़पों में शामिल लोगों को किसान संगठन बाहर के लोग बता रहे हैं। सयुंक्त किसान मोर्चा ने साफ़ कह दिया कि इस तरह की घटनाएं हमारे लोगों की नहीं है। 

लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने पर राकेश टिकैत ने सरकार से ही मांगा जवाब

किसानों पर लगे आरोप 
वहीँ, किसान संगठनों ने कहा कि इन घटनाओं के लिए जान बूझकर कुछ चुनिंदा लोगों पर लगाया जा रहा हैं। तो वहीँ, किसान नेताओं ने दीप सिद्धू पर किसानों को भड़काने और हिंसा फैलाने का आरोप लगाया है। इन आरोपों के बाद दीप सिद्धू ने फेसबुक पर आकर सफाई देते हुए कहा है 'हमने प्रदर्शन के अपने लोकतांत्रिक अधिकार के तहत निशान साहिब का झंडा लाल किले पर फहराया लेकिन भारतीय झंडे को नहीं हटाया गया।'

वहीँ, सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव ने भी मीडिया से कहा कि दीप सिद्धू और नेता लक्खा सिधाना ने पिछली रात सिंघु बॉर्डर पर भी किसानों को भड़काने की कोशिश की थी। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि पुलिस यह जांच करें कैसे एक माइक्रोफोन के साथ दीप सिद्धू लाल किले तक पहुंच गया। इतना ही नहीं, भारतीय किसान यूनियन के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने भी दीप सिद्धू पर आरोप लगाए कि 'दीप सिद्धू ने किसानों भड़काया और उन्हें मिसगाइड किया है।''

Tractor Rally Violence: 22 के खिलाफ FIR, दिल्ली पुलिस की प्रेस कॉन्फेंस 4 बजे

कौन है दीप सिद्धू 
किसान रैली के बाद अचानक सुर्ख़ियों में आए दीप सिद्धू पंजाब के मुक्तसर जिले के रहने वाले हैं। उन्होंने लॉ की पढ़ाई की है। उन्हें मॉडलिंग का शौक रहा है और इसी वजह से उन्होंने किंगफिशर मॉडल हंट अवार्ड भी जीता। इससे पहले वो बार के सदस्य भी रहे थे। दीप ने पंजाबी फिल्मों में भी हाथ आजमाया है। उनकी पहली फिल्म साल 2015 में आई थी जिसका नाम 'रमता जोगी' है। लेकिन उन्हें इससे कुछ खास प्रसिद्धि नहीं मिली, लेकिन जब साल 2018 में उनकी फिल्म 'जोरा दास नुम्बरिया' आई तब उन्हें काफी सराहना और फेम मिली।  इस फिल्म में उन्होंने गैंगेस्टर का रोल निभाया है। 

Budget 2021: भारत-चीन के बीच बढ़े तनाव को देखते हुए इस बार रक्षा बजट में हो सकता है भारी इजाफा!

सनी देओल का नाम जुड़ा 
वहीँ, दीप सिद्धू का नाम सनी देओल के साथ जोड़ा जा रहा है। जानकारी के अनुसार, साल 2019 में एक्टर सनी देओल ने जब गुरुदासपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा था तब उनके चुनाव कैंपेन की जिम्मेदारी दीप सिद्धू को भी मिली थी।

लेकिन जब किसान रैली में किले पर झंडा फहराने को लेकर घटना घटी तब उसके बाद से ही सनी देओल का नाम दीप से जोड़ा जा रहा है जिसपर सनी देओल ने एक ट्वीट करते हुए कहा है 'मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू से कोई संबंध नहीं है।'

Republic Day: बंगाल BJP अध्यक्ष दिलीप घोष ने फहराया उल्टा तिरंगा, बाद में दी सफाई

किसान आंदोलन से कैसे जुड़े दीप 
25 सितंबर को कुछ फ़िल्मी कलाकारों ने किसान आंदोलन को सपोर्ट करने की बात कही, इसे में दीप सिद्धू भी शामिल थे। उन्होंने भी किसानों के साथ धरने पर बैठने का निर्णय लिया था। इसके बाद उन्होंने स्थायी तौर पर धरना देने का निर्णय लिया। इसके साथ ही दीप सिद्धू ने अपने सोशल मीडिया पर अपने प्रशंसकों से किसानों की समस्या को उठाने और उनका समर्थन करने की अपील की। 

लेकिन अचानक दीप का किसान रैली में किले पर झंडा फहराने को लेकर नाम सामने आने पर लोगों ने उनका नाम बीजेपी और आरएसएस से जोड़ना शुरू कर दिया है, हालांकि वो इन आरोपों को पूरी तरह से नकार रहे हैं। जबकि योगेंद्र यादव ने कहा है कि हम दीप सिद्धू का शुरुआत से ही विरोध करते आ रहे हैं। 
 

पढ़ें अन्य बड़ी खबरें

comments

.
.
.
.
.