Thursday, Feb 09, 2023
-->
Defense Engineering got NOC from the police to install explosives in Twin Towers

ट्विन टावर में विस्फोटक लगाने की डिफिस इंजीनियरिंग को मिली पुलिस से एनओसी

  • Updated on 8/3/2022


नई दिल्ली, टीम डिजीटल/ : नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे पर सेक्टर-93ए स्थित सुपरटेक एमरॉल्ड कोर्ट के दोनों अवैध टावर (सियान और एपेक्स) को तोडऩे के लिए पुलिस ने एडिफिस इंजीनियरिंग को नो आब्जेक्शन सर्टिफिकेट (एनओसी) दे दी है। अब एडिफिस कंपनी पलवल से विस्फोटक को ला सकेगी। इसके लिए उसे नोएडा पुलिस एस्कॉट देगी। नोएडा पुलिस ही हरियाणा के पलवल जाएगी और वहां से विस्फोटक लगाया जाएगा। ये जानकारी डीसीपी हेडक्वार्टर राम बदन सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि दिए गए प्रोफार्मा पर एडिफिस ने मंगलवार देररात नोएडा पुलिस को अपना जवाब दिया। जिसके बाद क्लियरेंस देते हुए उनको एनओसी जारी की गई। अब उम्मीद है कि तय तारीख 21 अगस्त को दोनों टावर विस्फोट लगा कर ध्वस्त कर दिए जायेंगे।
इमारत को तोडऩे के लिए 3700 किलो विस्फोटक लाया जाना है। ये विस्फोटक प्रत्येक 15 दिनों तक पलवल से नोएडा सेक्टर-93ए लाया जाएगा। इसमें दो गाडिय़ां होंगी। एक डेटोनेटर और दूसरी विस्फोटक की। सुरक्षा के लिहाज से विस्फोटक किसी रास्ते से और कितने बजे लाया जाएगा इसे गोपनीय रखा गया है।  बताया गया कि दोनों टावरों में करीब 10 हजार सुराख किए गए है। इनमें विस्फोटक भरने का काम सिर्फ दिन में किया जाएगा। शाम होने के साथ ही बचा हुआ विस्फोटक वापस पलवल भेज दिया जाएगा। से प्रक्रिया लगातार 15 दिनों तक चलेगी। इसके बाद दोनों इमारतों को सील कर दिया जाएगा।

विस्फोटक लगाने का काम शुरू होते ही पूरे एरिया को सीसीटीवी सर्विलांस मोड पर रखा जाएगा। किसी का प्रवेश बिना नोडल अधिकारी की अनुमति के नहीं होगी। आने जाने वालों का पास चेक किया जाएगा साथ ही इमारत के पास किसी को भी नहीं आने दिया जाएगा। 
 

comments

.
.
.
.
.