Wednesday, Dec 01, 2021
-->
delhi-aiims-to-become-first-hospital-with-fire-station-on-campus-kmbsnt

दिल्ली: परिसर में फायर स्टेशन वाला देश का पहला अस्पताल बनेगा एम्स

  • Updated on 8/17/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एम्स देश के पहले चिकित्सकीय संस्थान के तौर पर जाना जाएगा जिसके परिसर में ही फायर स्टेशन स्थापित होगा। इसके अलावा कई ऐसी परियोजना शुरू की जाएंगी जिसके बाद एम्स में 3000 बिस्तर बढ़ जाएंगे लेकिन बिस्तर बढ़ाने वाली योजनाओं को पूरा करने में 7 वर्ष का समय लगेगा।

आपात स्थिति से निपटने के लिए फायर विभाग से सहयोग लिया जाएगा। पिछले कुछ वर्षों में एम्स में कुछ अंतराल पर आग लगने की घटनाएं सामने आती रही है। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए एम्स ने फायर विभाग के सहयोग से कैंपस के अंदर फायर स्टेशन स्थापित करने का निर्णय लिया है।

भारत ने की अफगानिस्तान में तेजी से बिगड़ते हालात की समीक्षा, फंसे हैं सैंकड़ों भारतीय 

एम्स फायर स्टेशन के लिए बुनियादी ढांचा मुहैया करवाएगा
इसके तहत एम्स फायर स्टेशन के लिए बुनियादी ढांचा मुहैया करवाएगा और फायर विभाग मैन पावर का प्रबंध करेगा। इस व्यवस्था के तहत एम्स के अंदर स्थापित होने वाले फायर स्टेशन में एक अग्निशमन वाहन हमेशा खड़ी होगी। फायर विभाग ने एम्स के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है।

अफगानिस्तानः गुरुद्वारे में फंसे 200 सिख, निकालने को कैप्टन ने विदेश मंत्री से आग्रह किया

10,000 करोड़ की परियोजना होगी शुरू
एम्स निदेशक प्रोफेसर रणदीप गुलेरिया के मुताबिक नए वर्ष से करीब 10,000 करोड़ की परियोजना शुरू की जाएगी। इसे पूरा करने के लिए 7 वर्ष का लक्ष्य रखा गया है। इन योजनाओं की बदौलत एम्स में 3000 बिस्तरों की बढ़ोतरी होगी। इसमें 300 बिस्तरों वाला अत्याधुनिक एमरजैंसी ब्लॉक का निर्माण भी शामिल है। इसके अलावा शोध और चिकित्सा के साथ में अन्य सुविधाओं का विस्तार कर इसे विश्व स्तरीय रूप देने की योजना है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.