Sunday, Jan 26, 2020
delhi anaj mandi fire minister imran hussain bjp mp vijay goel reaction

अनाज मंडी आग के लिए जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई- इमरान हुसैन

  • Updated on 12/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) के अनाज मंडी (Anaj mandi) इलाके में आग से लगने से कोहराम मचा हुआ है। इस आगजनी में अब तक 43 लोगों को मौत हो चुकी है। दिल्ली कैबिनेट के मंत्री इमरान हुसैन (Imran Hussain) ने घटना पर दुख जाहिर किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि इस हादसे के लिए जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। केजरीवाल सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन भी मौके पर पहुंचे हैं। 

वहीं दिल्ली बीजेपी के राज्यसभा सांसद विजय गोयल ने इसके लिए दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। गोयल का कहना है इतनी कंजेस्टेड गलिया हैं। लोगों को कोई सुविधा नहीं मिली है। वो कहां जाएंगे वो इसी जगह पर रहते हैं। गोयल ने कहा कि दिल्ली सरकार को इन लोगों के लिए कुछ करना चाहिए, लेकिन वो राजनीति में व्यस्त है। 

वहीं इस हादसे पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी दुख जाहिर किया है। प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई नेताओं ने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए पीड़ितों के प्रति संवेदनाएं व्यक्ता की हैं। 

दिल्ली की अनाज मंडी में लगी भीषण आग से हाहाकार, 43 लोगों की मौत, कई घायल

अब तक कुल 35 लोगों की मौत
इस आगजनी में एलएनजेपी अस्पताल में इलाज के लिए लाए गए 10 लोगों को मृत घोषित कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि इस आगजनी में कुल 43 लोगों के मौत हो चुकी है। वहीं कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों को दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल समेत अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।  

दिल्ली के अनाज मंडी में आग से हाहाकार, पीएम मोदी ने दुख जताकर कहा- बहुत भीषण है...

50 से ज्यादा लोगों को बचाया 
रानी झांसी रोड पर आग लगने की घटना पर दिल्ली फायर सर्विस के चीफ फायर ऑफिसर अतुल गर्ग का कहना है कि अब तक हमने 56 से ज्यादा लोगों को बचाया है, जिनमें से ज्यादातर धुएं के कारण प्रभावित हुए थे।  बचाव अभियान अब भी चल रहा है। 

दिल्ली: अनाज मंडी में भीषण आग से हाहाकार, कई लोगों की मौत पर CM केजरीवाल ने जताया दुख

इमारत में  होता था पैकिंग और सिलाई का काम
बताया जा रहा है कि जिस इमारत में आग लगी उसमें पैकिंग का काम होता है। जिस इमारत में आग लगी वो एक तीन मंजिला इमारत है। कुछ लोग इस इमारत में सिलाई का काम भी किया करते थे। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जब तक दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची तब तक धुआं काफी बढ़ गया था। लोगों को इमारत से बाहर जाने का रास्ता नहीं मिला। जिसके चलते इतने लोगों की मौत हो गई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.