Friday, Dec 04, 2020

Live Updates: Unlock 7- Day 3

Last Updated: Thu Dec 03 2020 09:52 PM

corona virus

Total Cases

9,564,565

Recovered

9,008,247

Deaths

139,102

  • INDIA9,564,565
  • MAHARASTRA1,837,358
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA887,667
  • TAMIL NADU784,747
  • KERALA614,674
  • NEW DELHI582,058
  • UTTAR PRADESH549,228
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA320,017
  • TELANGANA271,492
  • RAJASTHAN268,063
  • HARYANA237,604
  • CHHATTISGARH237,322
  • BIHAR236,778
  • ASSAM212,776
  • GUJARAT209,780
  • MADHYA PRADESH206,128
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB153,308
  • JAMMU & KASHMIR110,224
  • JHARKHAND109,151
  • UTTARAKHAND75,784
  • GOA45,389
  • HIMACHAL PRADESH41,860
  • PUDUCHERRY36,000
  • TRIPURA32,723
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,810
  • NAGALAND11,186
  • LADAKH8,415
  • SIKKIM4,990
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,723
  • MIZORAM3,881
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,333
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
delhi anaj mandi fire victim dead body police refusal to give autopsy without aadhaar

अनाज मंडी अग्निकांड: संवेदनहीन प्रशासन! बिना आधार के शव देने से दिल्ली पुलिस का इनकार

  • Updated on 12/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) के अनाज मंडी (Anaj mandi) इलाके में हुए अग्निकांड में जान गंवाने वाले लोगों को अब उनके शवों के लिए भी ठोकरें खानें को मजबूर होना पड़ रहा है। दिल्ली के लोकनायक अस्पताल (LNJP Hodpital) की मोर्चरी में बिहार के सहरसा जिला के तीन मृतकों के परिजनों को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने शव देने से इनकार कर दिया। 

दिल्ली पुलिस का कहना है कि परिजनों को उनका शव तभी दिया जाएगा जब वो मृतकों का आधार कार्ड लेकर आएंगे। वहीं परिजनों का कहना है कि आधार कार्ड मृतकों के पास था, अब वो इस अग्निकांड में जल गया या उसका क्या हुआ उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है।

अनाज मंडी आग: शॉर्ट सर्किट से डेथ चैंबर में तब्दील हुई इमारत, इन लोगों ने गंवाई जान

बिहार से दिल्ली आए मृतकों के परिजन
मृतकों की पहचान राशिद, संजर और ग्यास के रूप में उनके दोस्तों ने की थी। तब पुलिस ने कहा था कि पोस्टमार्टम तभी होगा जब किसी के आधार कार्ड में उनका नाम होगा। चाहे किसी के बेटे के रूप में या फिर किसी के पति के रूप में। पुलिस की इस शर्त पर दोस्तों ने घरवालों को जानकारी दी। घरवाले बिहार से 24 घंटे का सफर तय करके दिल्ली आए, लेकिन उसके बाद दिल्ली पुलिस मृतकों का आधार कार्ड मांगने लगी। 

अनाज मंडी आग: बिहार के पीड़ितों के लिए CM नीतीश कुमार ने किया 2 लाख की सहायता का ऐलान

दोस्तों पर शक कर रही पुलिस
जब परिजनों ने आधार कार्ड न होने की बात कही तो पुलिस ने कहा कि नंबर ही बता दें। तो उनका कहना था कि हमें अपने आधार कार्ड का नंबर नहीं पता तो उनके आधार कार्ड का नंबर कैसे पता होगा। मंगलवार दो 2 बजे तक मृतकों का पोस्टमार्टम कराने की अनुमति नहीं दी गई। मृतक संजर के दोस्त के पास उसके आधार की फोटो थी तो उसने वो अपने मोबाइल से निकाल कर दे दी। अब उनका कहना है कि पुलिस को लग रहा है कि बाकी दोनों की फोटो भी उनके पास है लेकिन वो जान कर नहीं दे रहे हैं।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.