Saturday, May 15, 2021
-->
delhi-assembly-elections-2020-bjp-may-win-30-seats-according-to-internal-survey

दिल्ली चुनाव: शाहीन बाग के मुद्दे से बढ़ रहा BJP का ग्राफ, जीत सकती है इतनी सीटें

  • Updated on 1/29/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) में इस बार भारतीय जनता पार्टी  (BJP) का ग्राफ ऊपर की ओर चढ़ता सा नजर आ रहा है। पार्टी के एक आंतरिक सर्वे के अनुसार दिल्ली विधानसभा चुनावों में बीजेपी इस बार 70 विधानसभा सीटों में से कम से कम 30-35 सीटें जीत सकती हैं। जानकारों की मानें तो इसका मुख्य कारण शाहीन बाग में लंबे समय से चल रहे विरोध प्रदर्शन के मुद्दे को भुनाना है।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ 40 दिन से चल रहे विरोध प्रदर्शन के चलते दक्षिण और पूर्वी दिल्ली के लोगों को रोजाना भारी जाम का सामना करना पड़ रहा है।  

जानकारों का कहना है कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों के खिलाफ माहौल बनाने का लाभ बीजेपी को मिलता दिख रहा है। उनका कहना है कि चुनाव से सप्ताह भर पहले तक दिल्ली में बीजेपी की और सीटें बढ़ने की संभावना दिख रही है। साल 2015 के चुनावों में आम आदमी पार्टी को प्रचंड बहुमत मिलने पर बीजेपी केवल 3 सीटों पर सिमट कर रह गई थी। 

Delhi Election 2020: शाहीन बाग से दिल्ली की सत्ता का रास्ता तय करेगी बीजेपी?

अच्छा प्रदर्शन कर रही बीजेपी- तिवारी
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि यह सच है कि अब हम बहुत अच्छा कर रहे हैं। मनीष सिसोदिया के बायन 'मैं शाहीन बाग के साथ खड़ा हूं' ने भी हमारी बहुत मदद की है। वहीं दक्षिण दिल्ली से बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी का कहना है कि बीजेपी के अच्छे प्रदर्शन के दो कारण हैं। एक तो शाहीन बाग आंदोलन, जिसने बीजेपी के देश को तोड़ने की मंशा रखने वालो को जनता के सामने लाने वाले अभियान को गति देने में मदद की। दूसरा बीजेपी ने आम आदमी पार्टी की विफलताओं को जनता के सामने उजागर किया। 

दिल्ली चुनाव: BJP सांसद ने कश्मीर से की शाहीन बाग की तुलना, कहा- ये लोग करेंगे रेप और हत्या

20-25% वोटरों आ सकते हैं BJP के पाले में 
बीजेपी नेताओं का मानना है कि दिल्ली में काफी लोग केजरीवाल से खुश हैं ऐसे में बीजेपी के लिए ये चुनौती भरा है, लेकिन दिल्ली में अब भी 20-25% तक ऐसे वोटर हैं जिन्होंने अपना वोट डिसाइड नहीं किया है। ऐसे में उनको बीजेपी की तरफ ले जाने से हमे लाभ होगा। वहीं बीजेपी के आंतरिक सर्वे पर आम आदमी पार्टी ने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार किया है। उनका कहना है कि हम किसी दूसरी पार्टी के सर्वे पर टिप्पणी कैसे कर सकते हैं जो हमने अभी तक देखा भी नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.