Wednesday, Jan 26, 2022
-->
delhi budget 2021 arvind kejriwal ram rajya concept in delhi kmbsnt

Delhi Budget 2021: CM केजरीवाल ने दिल्ली के लिए बताए राम राज्य के ये 10 सिद्धांत

  • Updated on 3/10/2021

नई दिल्लीा/टीम डिजिटल। दिल्ली विधानसभा में उपराज्यपाल अनिल  बैजल (Anil bailjal) के अभिभाषण के लिए धन्यवाद प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने दिल्ली में राम राज्य की बात कही। साथ ही खुद को बजरंगबली और श्रीराम का भक्त बताया। इस दौरान उन्होंने अपनी सरकार के कार्यकाल में शिक्षा के क्षेत्र में हुए विकास को एक क्रांति बताया।  

सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पिछले 5-6 सालों में शिक्षा क्षेत्र में जो काम हुआ है उसे क्रांति के रूप में देखा जा रहा है। अब गरीबों के बच्चे भी फर्राटे की अंग्रेजी बोल रहे हैं, वे इंजीनियर और डॉक्टर बन रहे हैं। सरकारी स्कूल के बच्चे अमीरों के बच्चों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बढ़ रहे हैं। 

'दिल्ली के इस बजट में है साल 2047 का विजन', पढ़ें क्या-क्या बोले सीएम केजरीवाल

आजादी के बाद दो पार्टियों ने किया राज
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले 1 साल में देश और दिल्ली ने कोरोना महामारी का सामना किया। नेता चाहे कितनी भी तारीफ कर ले लेकिन अस्पताल में इलाज तो डॉक्टर्स ने किया। हम और सदन दिल से डॉक्टर्स, नुर्सेस, फ्रंटलाइन वारियर्स और वैज्ञानिकों का धन्यवाद करते है।

सीएम ने कहा कि आजादी के बाद से दो पार्टियों ने इस देश में राज किया। इन्होंने शिक्षा व्यवस्था को जानबूझकर गरीब और अनपढ़ रखा है। ये चाहते थे कि ये बच्चे अनपढ़ और गरीब रहेंगे तो अमीरों को अपनी फैक्ट्रियों और घरों के लिए सस्ते मजदूर मिल सकेंगे। 

राम राज्य से प्रेरणा लेकर सीएम केजरीवाल ने बनाए 10 सिद्धांत 

  1. कोई भूखा ना सोए
  2. बच्चों को अच्छी शिक्षा
  3. सभी को बेहतर इलाज
  4. 24x7 मुफ़्त बिजली
  5. सभी को मुफ्त पानी
  6. सभी को रोजगार
  7. बेघरों को मकान
  8. महिलाओं को सुरक्षा
  9. बुजर्गों को सम्मान
  10. सभी को समान अधिकार

69000 करोड़ का बजट
बता दें कि इस बार दिल्ली के लिए केजरीवाल सराकर की ओर से उपमुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने साल 2021-22 के लिए दिल्ली का बजट (Delhi Budget 2021) पेश किया। दिल्ली के लिए इस बार भी बजट को बढ़ाया गया है। पिछली बार जो बजट 65000 करोड़ था उसे बढ़ाकर 69000 कर दिया गया है। जो पिछले साल के मुकाबले 6 प्रतिशत ज्यादा है। 

इस साल दिल्ली सरकार ने शिक्षा (Education Sector) के लिए 16377 करोड़ रुपए प्रस्तावित किए हैं। शिक्षा का यह बजट पिछले 6 बजटों के अनुसार 25 फीसद ही रखा गया है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि इस वर्ष स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता को और ऊपर ले जाने के लिए वह इस वर्ष 3 बड़े कदम उठा रही है।

केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला- Delhi Board of School Education को दी मंजूरी

बेहत शिक्षा के लिए तीन कदम

  • पहला है नर्सरी से 8वीं तक के लिए नया सिलेबस तैयार करना।
  • दूसरा है दिल्ली का अपना शिक्षा-परीक्षा बोर्ड स्थापित करना।
  • तीसरा है दिल्ली में 100 स्कूल ऑफ एक्सीलेंस स्थापित करना। जिनमें 9वीं से लेकर 12वीं तक के छात्रों को वल्र्ड क्लास सुविधाएं देकर पढ़ाया जाएगा। इसके अलावा दिल्ली में एक सैनिक स्कूल खोलने का भी प्रस्ताव है।

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.