Friday, Dec 06, 2019
delhi cm arvind kejriwal express condolences on the demise of former chief cec tn sheshan

टीएन शेषन के निधन पर दिल्ली के CM समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख, जानिए क्या कहा...

  • Updated on 11/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय चुनाव व्यवस्था के सबसे बड़े सुधारक माने जाने वाले पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त (Election Commission) टीएन शेषन (TN Seshan) का रविवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने टीएन शेषन के निधन पर शोक जताया है। 

सीएम केजरीवाल (CM Kejriwal) ने अपने टि्वटर हैंडल से ट्वीट कर कहा कि टीएन शेषन का निधन, एक युग का अंत जैसा है। उन्होंने कहा, "स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव एक संसदीय लोकतंत्र का मूल और आवश्यक तत्व हैं और टीएन शेषन ने साबित किया कि चुनाव आयोग इसे कैसे सुनिश्चित कर सकता है।" अरविंद केजरीवाल के कहा कि आपको हमेशा याद किया जाएगा सर।

प्रकाश पर्व पर दिखेगा राजधानी की सड़कों पर भव्य नगर कीर्तन, कई रुट पर लग सकता है जाम

बीजेपी नेता और सांसद विजय गोयल (Vijay Goel) ने ट्वीट किया, "दोस्तों 1996 मैं अपना पहला लोकसभा का चुनाव सदर क्षेत्र से श्री टी एन शेषण के चुनाव सुधारों के कारण ही जीता। क्योंकि तब मेरे विरोधी चुनाव में गलत साधनों का उपयोग नही कर पाए। श्री शेषण के निधन पर मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। देश में चुनाव सुधारों का श्रेय उनको ही है।"

दिल्ली के अस्पतालों में काली पट्टी बांधकर नर्स करेंगी प्रदर्शन, ये हैं मांगें

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता विजेंद्र गुप्ता (Vijender Gupta) ने कहा, "पूर्व सीईसी श्री के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ। टीएन शेषन सबसे समर्पित सिविल सेवक थे जिन्होंने चुनावी सुधारों की एक स्थायी विरासत छोड़ी। उन्हें आने वाली पीढ़ियों के लिए याद किया जाएगा। मेरी संवेदनाएं दिवंगत आत्मा के परिवार के साथ हैं। ओम शांति।" 

दिल्ली में बढ़े प्रदूषण से अधिकांश इलाकों में दिखा असर, जानें आज का AQI

दिल्ली कांग्रेस (Delhi Congress) नेता अलका लांबा (Alka Lamba) ने कहा, "पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन के निधन की सूचना से दुखी हूं।" 

पूर्व कैबिनेट सचिव टीएन शेषन के निधन पर प्रधान मंत्री ने जताया शोक

भारत (India) के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी.एन. शेषन का रविवार को चेन्नई (Chennai) में निधन हो गया। शेषन ने 1990 के दशक में देश में चुनाव सुधार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह 86 वर्ष के थे। उनका जन्म केरल के पलक्कड़ जिले के तिरुनेल्लाई में हुआ था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूर्व चुनाव आयुक्त का स्वास्थ्य पिछले कुछ वर्ष से ठीक नहीं था। दिल का दौरा पड़ने से रविवार रात करीब साढ़े नौ बजे उनका निधन हो गया। अपनी स्पष्टवादिता के लिए प्रसिद्ध शेषन बढ़ती उम्र के कारण पिछले कुछ वर्ष से सिर्फ अपने आवास पर रह रहते थे। उनका बाहर आना-जाना लगभग ना के बराबर हो गया था।

दिल्ली में एक और रामलीला मैदान बनाने की तैयारी, यहां होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

शेषन 12 दिसंबर, 1990 से लेकर 11 दिसंबर, 1996 तक देश के मुख्य चुनाव आयुक्त रहे और इस दौरान उन्होंने चुनाव सुधार की दिशा में काफी काम किया। कहा जाता है कि शेषन ने अपने कार्यकाल में चुनाव के दौरान बाहुबल और धन के महत्व को कम करने के लिए कठोर कदम उठाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.