Sunday, Apr 18, 2021
-->
delhi corona bulletin 14 people died 494 infected kmbsnt

Delhi Corona Bulletin: कंट्रोल में कोरोना! 7 माह बाद पहली बार 24 घंटे में 500 से कम केस

  • Updated on 1/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 1 दिन में 67334 टेस्ट होने के बावजूद 494 ही नए मामले सामने आए हैं। 17 मई के बाद पहली बार 1 दिन में 500 से कम नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं। कोरोना के नए मामलों के साथ संक्रमण दर में भी कमी जारी है। 1 दिन में कोरोना से 14 लोगों की मौत हुई है। वहीं कोरोना की संक्रमण दर 0.73 फीसदी दर्ज की गई है।

पिछले 11 दिनों से संक्रमण तक लगातार 1% से नीचे बनी हुई है। इससे सबसे न्यूनतम संक्रमण दर कहा जा रहा है। वहीं 1 महीने से अधिक समय से संक्रमण दर 5 फीसदी से नीचे बने हुए हैं। इस वजह से कोरोना के नए मामलों में भारी गिरावट आई है। इसके साथ ही को रोना रिकवरी दर 97.45% हो गई है।

किसानों का सरकार को अल्टीमेटमः अगली बातचीत में हल नहीं तो एक्सप्रेस-वे पर होगा ट्रैक्टर मार्च

दिल्ली में केवल 5 हजार 342 एक्टिव केस
सक्रिय मरीजों की संख्या अब 5342 रह गई है, जो कुल मामलों का सिर्फ 0.85% है और पिछले 8 महीने में सबसे कम है। अब दिल्ली के कोविड अस्पतालों में 2005 और होम आइसोलेशन में 2752 मरीज का ही इलाज चल रहा है। आंकड़ों के अनुसार 29 अक्टूबर के बाद मौत के मामले बढ़ते चले गए थे।

18 नवंबर को सबसे अधिक 131 मरीजों की मौत हुई थी। लेकिन अब मौत के मामलों में लगातार कमी आ रही है। शनिवार को जारी दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के अनुसार 1 दिन में 496 और मरीज ठीक हुए हैं। 

देश में कोरोना के मामले 1 करोड़ 3 लाख पार
वहीं भारत (India) में कोरोना से 1,03,24,631 लोग संक्रमित हो चुके हैं। देशबर में इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 1,49,471 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हालांकि, राहत की बात ये है कि 99,26,527 इस वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों की संख्या सक्रिय मामलों की संख्या से अधिक है। सक्रिय मामलों (Active Cases) की कुल संख्या 2,45,754 है।

दिल्ली के इन तीन अस्पतालों में वैक्सीनेशन के लिए हुआ ड्राइ-रन
नए साल के आगाज के साथ ही देश में जल्द ही कोरोना वैक्सीन के आने की नई उम्मीद बंधती नजर आ रही है। केंद्र सरकार इसके लिए युद्धस्तर पर तैयारी कर रही है। शनिवार को वैक्सीनेशन की तैयारियों की समीक्षा के लिए ड्राइ-रन चलाया गया।  ड्राई रन के लिए दिल्ली के तीन अस्पतालों को चुना गया है जिसमें दिलशाद गार्डन स्थित जीटीबी अस्पताल, दरियागंज स्थित अर्बन प्रायमरी हेल्थ सेंटर और द्वारका के निजी अस्पताल वेंकटेश्वर हॉस्पिटल को चुना गया है। दिल्ली में कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम में पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट और मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के डिपार्टमेंट ऑफ कम्युनिटी मेडिसिन की डायरेक्टर प्रोफेसर डॉक्टर सुनीता गर्ग ने बताया कि तीनों जिले में 3 केंद्र चुने गए हैं।

लॉन्च हुई DDA फ्लैटों की स्कीम, पहली बार योजना में शामिल 2 करोड़ के घर, ऐसे करें आवेदन

क्या है ड्राइ-रन का उद्देश्य
ड्राई रन का मकसद है टीकाकरण प्रोसेस को टेस्ट करना। इस दौरान सब कुछ वैसे ही किया जाएगा जैसे टीकाकरण के दौरान होगा। सिर्फ वैक्सीन नहीं दी जाएगी। मॉक ड्रिल में टीकाकरण अभियान के लिए इस्तेमाल की जा रही टेक्नोलॉजी का टेस्ट किया जाएगा। केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार टीकाकरण 'को-विन' पोर्टल के माध्यम से होगा और 'को-विन' पोर्टल कैसे काम कर रहा है इसमें सभी डेटाबेस मौजूद है। इस पोर्टल में टीका लगने वाले और लगाने वाले सबकी डिटेल्स पहले से ही मौजूद है। 

इसके साथ ही लॉजिस्टिक चेक करना, सेशन प्लानिंग और वैक्सीनेटर डिप्लॉयमेंट, सेशन साइट पर वैक्सीनेशन करना और रिपोर्ट करना। सभी सेंटर पर 25 हेल्थ वर्कर्स है, जिन्हें टीका लगेगा। उनका पूरा विवरण को-विन पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। यह भारत सरकार के एसओपी का पालन करते हुए इस पूरी प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा। 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

  •  

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.