Tuesday, Aug 03, 2021
-->
Delhi Corona recovered 30 percent patient not have antibody KMBSNT

दिल्ली: कोरोना से ठीक हुए 30% लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी, सीरो सर्वे में हुआ खुलासा

  • Updated on 9/16/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में हुए कोरोना के दूसरे  सीरो सर्वे (Sero Survey) की रिपोर्ट में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। इस सर्वे में 257 ऐसे लोगों को शामिल किया गया था जो कोरोना को मात दे चुके थे। इसमें से 30 प्रतिशत लोगों में कोरोना की एंटीबॉडी ही नहीं मिली। जो कि एक खतरे का संकेत है।

इस पर एक सवाल तो ये उठता है कि कोरोना की एंटीबॉडी कब तक शरीर में रहती है। इसके साथ ही अगर एंटीबॉडी समाप्त हो जाती है तो व्यक्ति को फिर से संक्रमण हो सकता है। दिल्ली में इस प्रकार के कुछ मामले सामने भी आ चुके हैं। अगस्त महीने में दिल्ली सरकार ने कोरोना का दूसरा सीरो सर्वे करवाया था। 

दिल्ली में कोरोना संकट: 24 घंटे में 4200 से ज्यादा नए केस, 36 की मौत

29.1 प्रतिशत लोगों में मिली थी एंटीबॉडी
बता दें कि 15 हजार लोगों के सर्वे में 29.1% लोगों में कोरोना एंटीबॉडी (Corona Antibody) मिली थी। इसमें से 28 प्रतिशत पुरुष और 32 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं। इससे पता चलता है कि कोरोना संक्रमण को पुरुषों के मुकाबले महिलाओं ने ज्यादा मात दी है और वो इस बीमारी से ठीक हुई हैं। 

फेसबुक ने की दिल्ली विधानसभा समिति की अनदेखी, राघव चड्ढा ने चेताया

प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करती है एंटीबॉडी
इस मामले में डॉक्टरों का कहना है कि हर व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करता है कि एंटीबॉडी कितनी बनी और वो कब तक टिक सकती है। डॉक्टरों का कहना है कि हर किसी का शरीर वायरस के प्रति अलग-अलग प्रतिक्रिया देता है। यही कारण है कि कुछ लोगों को पता भी नहीं चलता और वो ठीक भी हो जाते हैं। वहीं कुछ लोगों की इस वायरस के कारण जान तक जा रही है। डॉक्टरों का कहना है कि 50-60 दिन में एंटीबॉडी की मात्रा आधी रह जाती है। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

comments

.
.
.
.
.