Saturday, May 08, 2021
-->
delhi coronavirus more than 2 thousand containment zone kmbsnt

दिल्ली में कंटेनमेंट जोन 2 हजार के पार, स्वास्थ्य मंत्री बोले इसका मतलब सरकार सक्रिय

  • Updated on 9/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) जितनी तेजी से बढ़ता दिख रहा है उतनी ही तेजी से यहां पर कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) की संख्या भी बढ़ रही है। राजधानी में कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 2 हजार के पार हो गई है। दिल्ली में माइक्रो कंटेनमेंट जोन की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है

राजस्व विभाग की रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटों में करीब डेढ़ सौ कंटेनमेंट जोन बढ़ गए हैं इसके साथ ही कंटेनमेंट जोन की संख्या 2380 पहुंच गई है। जबकि 1 दिन पहले शनिवार को दिल्ली में माइक्रो कंटेनमेंट जोन की संख्या 2231 थी। खास बात यह है कि दिल्ली के 11 जिलों में से साउथ-वेस्ट जिले में कंटेनमेंट जोन की संख्या 425 पहुंच गई है, जबकि बाकी जिलों में अभी किसी जिले में कंटेनमेंट जोन की संख्या 300 के पार नहीं हुई है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कोरोना को हराने के लिए कैसे बदली रणनीति

नॉर्थ ईस्ट जिले में सबसे कम कंटेनमेंट जोन
नॉर्थ ईस्ट जिले में सबसे कम कंटेनमेंट जोन है। यहां पर इनकी संख्या 98 है। दिल्ली में अब तक 3928 कंटेनमेंट जोन बनाए गए जिसमें से 1528 को डीकंटेन कर दिया गया है, इसके बाद दिल्ली में 2380 कंटेनमेंट जोन बचे हैं। वहीं इस प्रकार से कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़ने पर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि इसका अर्थ है सरकार सक्रिय है।  

अजोय कुमार ने छोड़ा AAP का साथ, फिर थामा कांग्रेस का हाथ

कंटेनमेंट जोन का बढ़ना सरकार की रणनीति का हिस्सा
जैन ने कहा कि यह वायरस को फैलने से रोकने की दिल्ली सरकार की रणनीति का हिस्सा है। हमने जाचों की संख्या 3 गुना कर दी है और जो संक्रमित पाए गए हैं उन्हें छोटे निषिद्ध क्षेत्रों में पृथक कर दिया है ताकि महामारी के प्रसार को नियंत्रित किया जा सके। हम जानते थे कि हमें यह दो चार हफ्ते आक्रामक तरीके से करना है और हम सकारात्मक नतीजे देख रहे हैं और मामले घट रहे हैं।

जैन ने कहा कि पिछले 7 दिनों में संक्रमित पाए जाने की दर में कमी आई है। बीते 7 दिनों में संक्रमित पाए जाने की दर 6.5 फ़ीसदी रही। 2 हफ्ते पहले या 8.5% थी और 3 हफ्ते पहले या 9 फीस दी थी। जैन से पूछा गया कि कनॉट प्लेस, लाजपत नगर और लक्ष्मी नगर कोविड-19 हॉटस्पॉट के तौर पर सामने आ रहे हैं? इस पर उन्होंने कहा लोग बाजार में रहते नहीं हैं वो रिहायशी इलाकों से आते हैं। बाजारों को कोरोना वायरस हॉटस्पॉट नहीं कहा जा सकता। आवासीय क्षेत्र हॉटस्पॉट होते हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.