Saturday, Feb 27, 2021
-->
Delhi crime branch sent notice 9 student in JNU Violence case

JNU हिंसा: क्राइम ब्रांच ने 9 छात्रों को पूछताछ के लिए भेजा नोटिस, वायरल Video से हुई पहचान

  • Updated on 1/12/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 5 जनवरी को जवाहर नेहरु विश्वविद्यालय (JNU) में हुई हिंसा के मामले की दिल्ली पुलिस काफी बारिकी से जांच कर रही है। हिंसा के दौरान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे नकाबपोश के वीडियो की जांच पड़ताल करते हुए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 9 छात्रों की तस्वीर सार्वजनिक करते हुए उन्हें हिंसा का आरोपी बताया है।तस्वीर को सार्वजिनक करने के बाद अब दिल्ली पुलिस ने 9 छात्रों को नोटिंस भेज दिया है जिनकी पहचान सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरों और वीडियो से की जा गई है।

दिल्ली पुलिस ने उन सभी को नोटिस भेजते हुए आदेश दिया है कि उनको कल यानि की  सोमवार को जांच में शामिल होना है। इसके साथ ही पुलिस ने  अलग से  37 छात्रों को भी बुलया है जिनका संपर्क  'यूनिटी अगेंस्ट लेफ्ट' है और व्हाट्सएप ग्रुप  (WhatsApp Group) से है।

आपको बता दें कि पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दो व्हाट्सएप (Whats app) समूहों के कम से कम 70 एडमिन की पहचान की है, जिन समूहों में कथित तौर पर जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) के सदस्यों पर हमले की योजना बनाई गई थी। पुलिस के अनुसार, वे रविवार को हमला करने वालों की पहचान करने के बहुत करीब है और कुछ संदिग्धों की पहचान कर ली गई है। पुलिस ने अब तक विश्वविद्यालय के 100 से अधिक लोगों से बात की है, जिनमें छात्र, शिक्षक, वार्डन और गवाह शामिल हैं।

ऐसे मचा JNU में बवाल
दोपहर से चल रही बैठक के दौरान एबीवीपी और लेफ्ट विंग से जुड़े छात्र संगठन एक साथ मौके पर पहुंच गए। इसी दौरान एबीवीपी के अध्यक्ष दुर्गेश कुमार की लेफ्ट के छात्रों से बहस हो गई, कहासुनी के बाद लाठी डंडे चलने लगे। इस मामले में एबीवीपी के अध्यक्ष दुर्गेश कुमार ने कहा, जेएनयू में एबीवीपी के कार्यकर्ताओं पर लेफ्ट के छात्र संगठनों एसएफआई, आइसा और डीएसएफ से जुड़े लोगों ने हमला किया है। इस हमले में एबीवीपी से जुड़े करीब 15 छात्रों को गंभीर चोटें आई हैं।

नकाबपोशों ने किया हमला
दुर्गेश ने आरोप लगाया है कि जेएनयू के अलग-अलग हॉस्टल में एबीवीपी से जुड़े छात्रों पर हमला किया गया है और हॉस्टलों की खिड़कियों दरवाजों को लेफ्ट विंग के छात्र संगठनों ने बुरी तरह से तोड़ दिया है। जेएनयूएसयू ने दावा किया कि साबरमती और अन्य हॉस्टल में एबीवीपी ने प्रवेश कर छात्रों की पिटाई की। इसके साथ ही एबीवीपी की ओर से पथराव और तोडफ़ोड़ भी की गई। हालांकि, तोडफ़ोड़ करने वाले लोगों ने चेहरे पर नकाब पहना हुआ था।

वहीं, इस दौरान जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) की अध्यक्ष आईशी घोष पर हमला किया गया। हमले में आइशी घोष बुरी तरह से घायल हो गईं। उनके सिर पर काफी गंभीर चोट आई है। वहीं हमले के बाद आइशी घोष ने कहा, मुझे मास्क पहने गुंडों ने बेरहमी से मारा है। मेरा खून बह रहा है। मुझे बेरहमी से पीटा गया।

comments

.
.
.
.
.