Tuesday, Oct 19, 2021
-->
delhi farmers violent protest sanyokt kisan morcha bku ugrahan kmbsnt

पूरी दिल्ली में प्रदर्शनकारियों का हुड़दंग! किसान संगठनों ने कहा- ये हमारे लोग नहीं

  • Updated on 1/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शांतिपूर्ण ट्रैक्टर रैली (Tractor rally) की आड़ में पूरी दिल्ली में 72वें गणतंत्र दिवस (republic day) के दिन हुड़दंग मचाया जा रहा है। प्रदर्शनकारी बैरिकेड तोड़ कर लाल किले तक पहुंच गए हैं और वहां अपना झंडा फहराने की कोशिश कर रहे हैं। कई स्थानों पर पुलिस पर हमला हुआ है। पुलिस  वाले जख्मी हुए हैं, उनकी वैन तोड़ी गई हैं। डीटीसी बसों को नुकासन पहुंचाया गया है। वहीं दूसरी ओर बड़े किसान संगठन इस सबकि जिम्मेदारी नहीं ले  रहे हैं। 

संयुक्त किसान मोर्चा का कहना है कि जो लोग भी हुड़दंग मचा रहे हैं वो उनके संगठन के सदस्य नहीं हैं। संयुक्त किसान मोर्चा का कहना है कि भारतीय किसान यूनियन और किसान मजदूर संघर्ष समिति उनके मोर्चे का हिस्सा नहीं है। वो अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र हैं।

Republic Day: किसान ट्रैक्टर रैली के चलते ये मार्ग रहेंगे बंद, पढ़ें पुलिस की ट्रैफिक एडवाइजरी

किसान मजदूर संघर्ष समिति के लोगों ने मचाया ITO में हुड़दंग- सूत्र
सूत्रों की मानें तो आइटो में मचाया गया उपद्रव किसान मजदूर संघर्ष समिति से जुड़े लोगों की करनी है। इन्होंने लाल किले तक जाने का ऐलान किया था। आईटो में हुड़दंग मचाने के बाद किसानों का जत्था लाल किले की ओर बढ़ चला। इसके बाद इन लोगों ने लाल किले पर पहुंच वहां पर तिरंगे वाले स्थान को अपने कब्जे में ले लिया। सूत्रों की मानें तो ये प्रदर्शनकारी वहां पर अपना झंडा फहराने की कोशिश कर रहे हैं। 

पूरी दिल्ली के अलग-अलग स्थानों से प्रदर्शनकारियों द्वारा उपद्रव करने, पुलिस  पर अटैक करने और बैरिकेडिंग तोड़ने की तस्वीरें और वीडियों सामने आ रही हैं। वहीं भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) का कहना है कि उनकी रैली शांतिपूर्ण ढंग से हो रही  है। वो गाजिपुर पर हैं और ट्रैफिक को रिलीज करवा रहे हैं। किसी भी प्रकार के उपद्रव के बारे में उनको खबर नहीं है। 

किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर पांडव नगर के पास पुलिस बैरिकेडिंग को हटाया। वहीं किसानों ने करनाल बाईपास पर दिल्ली के अंदर प्रवेश करने के लिए पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ी। किसानों ने मुकरबा चौक पर पुलिस बैरिकेडिंग को हटाया। किसानों के डर से जीटीबी नगर और आसपास के इलाकों में लोगो में दहशत,मार्किट बंद होनी शुरू हो गई है। 

Tractor Rally के नाम पर हुड़दंग, ITO समेत कई मेट्रो स्टेशन करने पड़े बंद

CRPF की 22 कंपनियां और बुलाई गईं
सूत्रों की मानें तो गृहमंत्रालय का कहना है कि अगर किसान विजय चौक या लुटियन जोन में आते हैं तो सख़्त कदम उठाए जाएं। इसके लिए पहले तो मंत्रालय ने 12 सीआरपीएफ कंपनियां भेजी थी और अब 22 कंपनियों को फिर से भेजा गया है। लाल किले को सील कर दिया गया है। अब लाल किला सीआरपीएफ के हवाले है। साथ ही मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को कानून उल्लंघन पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। 

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.