Friday, Feb 03, 2023
-->
delhi fight against corona 5 weapons of kejriwal govt arvind kejriwal kmbsnt

दिल्ली की कोरोना से जंग में केजरीवाल सरकार ने अपनाए ये 5 हथियार

  • Updated on 6/27/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस के खिलाफ उनकी सरकार की जंग के बारे में बताते हुए उन पांच हथियारों के बारे में बताया जिनके जरिए कोरोना के प्रसार को रोकने की कोशिश की जा रही है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के खिलाफ दिल्ली की लड़ाई मार्च 2020 में शुरू हुई। कोरोना के फैलते ही दूसरे देशों से करीब 35 हजार भारतीय लौटे। 

इनकी एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग हुई। बहुत कम लोगों को क्वारंटीन किया गया जिन्हें बुखार था बाकी सभी अपने घर चले गए। इनमें से कई संक्रमित रहे होंगे। तब वायरस के विषय में इतनी जानकारी नहीं थी न ही टेस्टिंग के लिए किट थी और ज्यादा लैब्स की व्यवस्था भी नहीं थी। जैसी ही कोरोना बढ़ा देश में लॉकडाउन लगा दिया गया। 

बढ़ते कोरोना संकट के बीच दिल्ली के लिए Good News- नेशनल लेवल से अधिक है रिकवरी रेट

लॉकडाउन के बाद बढ़े केस
सीएम केजरीवाल ने बताया कि मई के बाद जब लॉकडाउन के धीरे धीरे खुलना शुरू हुआ तो केस बढ़ने की उम्मीद थी। लेकिन जून के महीने में दिल्ली में उम्मीद से ज्यादा केस बढ़े और बेड्स की कमी अस्पतालों मे हुई। जिसके बाद दिल्ली में मौत का आंकड़ा भी बढ़ने लगा। ऐसे में सरकार ने कोरोना से लड़ाई के खिलाफ 5 हथियार अपनाए। 

केंद्र ने दिल्ली सरकार को नहीं भेजा 6 जुलाई तक हर घर की स्क्रीनिंग का प्लान

दिल्ली सरकार के वो पांच हथिया हैं - 

  • अस्पतालों में बढ़ाई गई बेड्स की संख्या- सीएम केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने बेड्स की संख्या बढ़ाने के लिए दिल्ली के सभी अस्पतालों में 40 प्रतिशत बेड्स कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व किए। कुछ अस्पतालों को पूरी तरह से कोविड डेडिकेटेड अस्पताल बनाया। इसके साथ ही होटलों को अस्पतालों से अटैच किया और बैंक्वेट हॉल आदी में बेड्स की व्यवस्था की। 
  • टेस्टिंग और आइसोलेशन- टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई। इसमें केंद्र सरकार का काफी योगदान रहा उसके लिए उनका धन्यवाद। ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग की और लोगों को आइसोलेट किया। अब दिल्ली में प्रतिदन 20 हजार से ज्यादा टेस्टिंग हो रही है। केंद्र सरकार ने रैपिड एंटिजन टैस्टिंग किट मुहैया करवाई जिससे काफी मदद हुई। अब दिल्ली सरकार ने 6 लाख टेस्टिंग किट खरीद ली है। इसिएल ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग दिल्ली में की जाएगी। 
  • ऑक्सीमीटर और ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर- सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से जंग के खिलाफ ऑक्सीमीटर होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को देना और अस्पतालों में ऑक्सीजन कॉन्संट्रेटर की संख्या बढ़ाने का काम जारी है। इसके जरिए कोरोना से मौत की संभावना को कम करने में मदद मिलती है।
  • प्लाज्मा थेरेपी- गंभीर रूप से बीमार लोगों पर देश में सबसे पहले दिल्ली में प्लज्मा थेरेपी का परीक्षण हुआ। सफल होने के बाद केंद्र ने बड़े स्तर पर इसके इस्तेमाल की मंजूरी दी। अब इसे दिल्ली के सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में मरीजों का इलाज करने के लिए उपयोग किया जा रहा है। 
  • सर्वे और स्क्रीनिंग- सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आज से सीरोलॉरजिकल सर्वे शुरू हो रहा है जिससे कोरोना की स्थिति का पता लगाने में सहायता होगी। इसके साथ ही दिल्ली में सभी की स्क्रीनिंग की योजना है जिससे कोरोना से जंग जीतने में सहायता मिलेगी। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-



 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.