Sunday, Jan 26, 2020
delhi fire anaj mandi incident case registered against owner of building

अनाज मंडी आग: इमारत के मालिक के खिलाफ केस दर्ज, इलाके में चल रही कई अवैध फैक्ट्रियां!

  • Updated on 12/8/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) के अनाज मंडी (Anaj Mandi) इलाके की तीन मंजिला इमारत में आग (Fire) से 43 लोगों की मौत के बाद इस पर कार्रवाई शुरू हो गई है। इस तीन मंजिला इमारत के मालिक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

दिल्ली अग्निशमन सेवा (डीएफएस) के मुख्य अग्निशमन अधिकारी अतुल गर्ग का कहना है कि इमारत ने डीएसएफ से फायर क्लीयरऐेंस नहीं लिया था। साथ ही इमारत में कोई भी फायर सेफ्टी इक्विप्मेंट नहीं था। सूत्रों का कहना है कि सरकारी एजेंसियों के नाक के नीचे इस इलाके में कई अवैध फैक्ट्रियां भी चलाई जा रही हैं। इलाके में बहुत ही संकरी गलियां हैं। बचाव कार्य के लिए फायर ब्रिगेड का जाना भी मुश्किल हो रहा था।

रविवार सुबह दिल्ली उस वक्त दहल गई जब रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी की तीन मंजिला इमारत में आग लग गई। ये आग शॉट सर्किट के कारण लगी थी। ये आग सुबह 5-6 बजे के करीब लगी। आग की सूचना मिलते ही मौके पर दमकल की 30 गाड़ियां पहुंची। लोगों को बचाने का काम शुरू किया गया। आग से इतना धुआं था कि लोग बुरी तहर घायल हो चुके थे।

बचाए गए लोगों को दिल्ली के लेडी हार्डिंग अस्पताल और एलएनजेपी अस्पताल समेत 5 अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया। इस हादसे में अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है। कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं। जिनका इलाज जारी है। 

अनाज मंडी आग: मौके पर पहुंचे CM केजरीवाल, मृतकों के परिवारों को 10 लाख के मुआवजे का ऐलान

सीएम केजरीवाल ने किया 10 लाख के मुआवजे का ऐलान
घटना स्थल पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) पहुंचे। उन्होंने एलएनजेपी अस्पताल पहुंच कर घायलों का हाल भी जाना। सीएम केजरीवालव ने ऐलान किया है कि मरने वालों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये की मदद की जाएगी। इसके साथ ही हादसे में घायलों का इलाज दिल्ली सराकर मुफ्त में कराएगी। साथ ही घायलों को भी 1-1 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर दिया जाएगा। 

अनाज मंडी आग: मनोज तिवारी समेत BJP के दिग्गज मौके पर, कार्यकर्ताओं से मदद की अपील

50 से ज्यादा लोगों को बचाया 
रानी झांसी रोड पर आग लगने की घटना पर दिल्ली फायर सर्विस के चीफ फायर ऑफिसर अतुल गर्ग का कहना है कि अब तक हमने 56 से ज्यादा लोगों को बचाया है, जिनमें से ज्यादातर धुएं के कारण प्रभावित हुए थे।

अनाज मंडी आग के लिए जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई- इमरान हुसैन

इमारत में  होता था पैकिंग और सिलाई का काम
बताया जा रहा है कि जिस इमारत में आग लगी उसमें पैकिंग का काम होता है। जिस इमारत में आग लगी वो एक तीन मंजिला इमारत है। कुछ लोग इस इमारत में सिलाई का काम भी किया करते थे। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जब तक दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची तब तक धुआं काफी बढ़ गया था। लोगों को इमारत से बाहर जाने का रास्ता नहीं मिला। जिसके चलते इतने लोगों की मौत हो गई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.