Sunday, Apr 18, 2021
-->
delhi five metro stations including closed decision taken due to farmers protest prshnt

रेल रोको आंदोलनः दिल्ली मेट्रो ने टिकरी बॉर्डर समेत ये चार स्टेशन किए बंद

  • Updated on 2/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में जारी किसान आंदोलन आज 85वें दिन है और अपनी मांगों को लेकर अड़े किसान आज ट्रेनों का चक्का जाम किया है। ऐसे में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (Delhi Metro Rail Corporation) ने सुरक्षा की दृष्टी से टिकरी बॉर्डर (Tikri Border) के लिए प्रवेश / निकास, पंडित श्री राम शर्मा (Pandit Shree Ram Sharma), बहादुरगढ़ सिटी ( Bahadurgarh City) और ब्रिगेडियर होशियार सिंह (Brig. Hoshiar Singh) मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए हैं।

बंगाल के मंत्री जाकिर हुसैन सहित कई समर्थक रेलवे स्टेशन पर बम हमले में घायल, SSKM अस्पताल में भर्ती

ट्रेन की पटरियों के आसपास सुरक्षा कड़ी
केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के ‘रेल रोको’ आह्वान के बाद दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों, विशेष रूप से ट्रेन की पटरियों के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, ट्रेन की पटरियों के पास कई जगहों पर अतिरिक्त र्किमयों को तैनात किया गया है और गश्त भी बढ़ा दी गई है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि हालांकि, इस संबंध में अभी तक कोई सूचना नहीं है कि रेल अवरोधक राष्ट्रीय राजधानी के अंदर लगाए जाएंगे।

लेकिन पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। प्रदर्शन कर रहे किसानों के संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की अपनी मांग को लेकर दबाव बनाने के लिए पिछले सप्ताह ‘रेल नाकाबंदी’ की घोषणा की थी। मोर्चा ने कहा था कि पूरे देश में दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेलें रोकी जाएंगी। रेलवे ने रेलवे संरक्षा विशेष बल की 20 अतिरिक्त कंपनियों को सुरक्षा में तैनात किया है, खास तौर से पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल को ध्यान में रखा गया है। 

कार के सनरूफ में डांस कर रही थी दुल्हन, अचानक इस हादसे ने मातम में बदलीं खुशियां

राकेश टिकैत ने किया था ऐलान
बता दें कि  भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आज यानी 18 फरवरी को देशभर में ट्रेनों को रोकने का आह्वान किया है। टिकैत का कहना है कि रेल रोककर सरकार को संदेश देना चाहते हैं कि रेलों को चलाया जाए। रेल रोको अभियान आज 12 बजे से लेकर शाम के 3 से 4 बजे तक रहेगा।

किसान आंदोलन के चलते एक और जहां कई रेलगाड़ियां पहले ही रद्द है और कुछ रेलगाड़ियों को उनके गंतव्य स्टेशनों से पहले रोका जा रहा है, वहीं अब वीरवार को किसानों ने केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 12:00 से 4:00 के बीच रेल रोको अभियान का आव्हान किया है इस अभियान के मद्देनजर उत्तर रेलवे ने पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश पर विशेष ध्यान केंद्रित करते हुए रेलवे सुरक्षा विशेष बल की अतिरिक्त तैनाती की है।

टूलकिट मामले में बड़ा खुलासा, निकिता जैकब के मोबाइल- लैपटॉप से मिले ये चौंकाने वाले सुबूत

रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों ने कही ये बात
रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों के मुताबिक हम जिला प्रशासन के साथ संपर्क बनाए रखेंगे और नियंत्रण कक्ष बनाए हैं खुफिया सूचनाओं पर जहां सतर्कता बरती जा रही है, वहीं पंजाब हरियाणा उत्तर प्रदेश दिल्ली के आसपास ज्यादा ध्यान दिया जाएगा रेलवे सुरक्षा बल के एक अधिकारी ने कहा कि हम किसानों से अपील करेंगे कि यात्रियों को कोई असुविधा ना हो और यह अभियान शांतिपूर्ण ढंग से समाप्त हो जाए संयुक्त किसान मोर्चा ने ऐलान किया है कि देश भर में दोपहर 12:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक लोगों की आवाजाही को अवरुद्ध किया जाएगा।

प. बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर अमित शाह, पहुंचे भारत सेवा आश्रम

जानें कब से कब तक चलेगा अभियान
किसान नेता राकेश टिकैत ने बताया कि 18 फरवरी को रेल रोको अभियान 12 बसे से लेकर शाम के 3- 4 बजे तक रहेगा। उन्होंने कहा, हम तो रेल चलाने की बात कर रहे हैं। अगर रेल रोकेंगे तो संदेश देंगे कि रेल चले। गांव के लोग अपने हिसाब से रेल रोको अभियान का संचालन कर लेंगे।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.