Wednesday, Mar 20, 2019

दिल्ली में स्थापित हुए 25 इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशन

  • Updated on 3/1/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश की राजधानी में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए नई दिल्ली म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन (एनडीएमसी) ने दिल्ली के विभिन्न इलाकों में 25 फास्ट चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए हैं। दिल्ली के खान मार्केट इलाके में 28 फरवरी से पहली दो यूनिट का संचालन शुरू होे चुका है। अन्य स्थानों के चार्जिंग स्टेशन मार्च के पहले सप्ताह में शुरू होंगे। इन स्थानों में कनॉट प्लेस, गोल मार्केट, ज़ोर बाग, सरोजनी नगर मार्केट और यशवंत प्लेस शामिल हैं। 

इन चार्जिंग स्टेशन पर ई-रिक्शा या इलेक्ट्रिक टू व्हीलर चार्ज नहीं किए जा सकेंगे। नई दिल्ली म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के अनुसार यह चार्जिंग स्टेशन 15 किलोवाट की क्षमता वाले हैं, जिन्हें खास तौर पर भारतीय कार निर्माताओं द्वारा बनाई गई इलेक्ट्रिक कारों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। वर्तमान में भारतीय निर्माताओं की इन इलेक्ट्रिक कारों में महिंद्रा ई2ओ, महिंद्रा ईवेरिटो और टाटा टिगॉर ईवी आदि कारें शामिल हैं। इनमें से टाटा टिगॉर ईवी अभी आम जनता के लिए उपलब्ध नहीं है। इसे ईईएसएल के कर्मचारियों द्वारा उपयोग में लिया जा रहा है। इन स्टेशन पर इन कारों को पूरी तरह चार्ज होने में 1.5 घंटे का समय लगेगा। फिलहाल भारत में बनी ये इलेक्ट्रिक कार फुल चार्ज होने पर औसतन 100 किलोमीटर की दूरी तय करने में सक्षम हैं। 

इन चार्जिंग स्टेशन पर 9 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से चार्ज वसूला जाएगा। एक अनुमान के अनुसार इन इलेक्ट्रिक कारों को अधिकतम 100 से 120 किलोमीटर तक का सफर तय करने के लिए 18 यूनिट तक चार्ज करने की आवश्यकता होगी, जिसके अनुसार खर्च 162 रुपए होता है। ग्राहकों को भुगतन ऑनलाइन पेमेंट गेटवे के माध्यम से करना होगा। 

इन चार्जिंग स्टेशन का इस्तेमाल करने के लिए उपभोक्ताओं को पहले एनडीएमसी के 311 मोबाइल एप्लीकेशन से एक स्लॉट बुक करना होगा। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि अन्य उपयोगकर्ताओं को कतार लगाने की कोई आवश्यकता नहीं हो। यह एप्लीकेशन वर्तमान में कर्यरत नहीं है। हम उम्मीद करते है कि सभी चार्जिंग स्टेशन चालू होने पर यह एप्लीकेशन भी शुरू हो जाएगी।  

प्रोजेक्ट के दूसरे फेज़ के तहत एनडीएमसी 9 चार्जिंग स्टेशन को स्थापित करने की योजना बना रही है। इन स्टेशनों पर 50-किलोवाट के डायरेक्ट करंट (डीसी) चार्जिंग पॉइन्ट लगाए जाएंगे। इन स्टेशनों पर अंतरराष्ट्रीय बाजार में बनी इलेक्ट्रिक कारों को भी चार्ज करने की सुविधा मिलेगी। इन्हें मार्च 2019 के अंत तक स्थापित करने की उम्मीद है।

जल्द ही भारतीय बाजार में कुछ विदेशी कंपनियों की इलेक्ट्रॉनिक कारें भी लॉन्च होने की उम्मीद हैं। जिनके बारे में आप यहां जानेंगे: -

मॉडल

संभावित लॉन्च

निसान लीफ

अप्रेल 2019

हुंडई कोना

2019 के मध्य में

एमजी ईजेडएस

2019 के अंत तक

आॅडी ई-ट्रॉन

2019 के अंत तक

इलेक्ट्रिक कारों के खरीदारों के लिए इनकी कम रेंज और चार्जिंग में लगने वाला ज्यादा समय मुख्य समस्याओं में से एक हैं। ऐसे में फास्ट चार्जिंग स्टेशनों के शुरू होने से थोड़ी राहत जरूर मिलेगी। देश में इलेक्ट्रिक कारों को बढ़ावा देने के लिए एनडीएमसी का ये कदम काफी सराहनीय है। यह देश में पहली बार है जब किसी म्यूनिसिपल कॉरपोरशन द्वारा इलेक्ट्रिक कारों को चार्ज करने के लिए चार्जिंग पॉइन्ट लगाए गए हैं। इस पहल से देश में इलेक्ट्रिक कारों के चलन का सपना भी पूरा हो सकता है। 

Mahindra e2oPlus First Drive Review

हालांकि इलेक्ट्रिक कारों को चलन में लाने के लिए देश के दूसरे हिस्सों में भी फ़ास्ट चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने होंगे। फिलहाल राजधानी में हई इस पहल के बाद इलेक्ट्रिक कारों की आवश्यकताओं और चार्जिंग में लगने वाले समय का आकलन किया जा सकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.