Friday, Jun 25, 2021
-->
delhi government dm arvind kejriwal delhi riots victims relief scheme

दिल्ली दंगा पीड़ित ऐसे हासिल करें केजरीवाल सरकार की राहत योजना का लाभ

  • Updated on 2/29/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के नाम पर उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में भड़की सांप्रदायिक हिंसा की वजह से 46 लोगों ने अपनी जान गवाईं। वहीं इस हिंसा में कई लोग बेघर हो गए। लोगों के खून-पसीने की कमाई को उपद्रवियों ने तीन दिनों में राख कर दिया।

दर्द का समंदर, आधी-अधूरी लाशें बता रहीं दंगे का मंजर

दिल्ली सरकार ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ
बेसहारा, मजबूर और अनिश्चितता के भंवर में खड़े हिंसा प्रभावित लोगों को पैसों की जरूरत के चलते इधर-उधर ना भटकना पड़े इसके लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने आज से मुआवजा देने का काम शुरू कर दिया है। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने विज्ञापन देकर सहायता फॉर्म का प्रारूप जारी किया है। 

इसमें दंगा पीड़ित को कई प्रकार की जानकारी देनी होगी। पीड़ित को राहत एंव पुनर्वास मुआवजे के दावे के लिए परिवार के मुखिया/ दावेदार का नाम बताना होगा। पिता का नाम और पता भी शेयर करना होगा। इसके साथ ही मोबाइल नंबर और आधार संख्या की फोटो कॉपी भी लगानी होगी। पीड़ित की पहचान की पुष्टि के लिए वोटर पहचान पत्र की फोटो कॉपी भी शेयर करनी होगी।

दिल्ली दंगा प्रभावित लोगों को केजरीवाल सरकार से कितना मिलेगा मुआवजा, जानिए...

घायल पीड़ितों के लिए :- 
इस संबंध में पीड़ित को अपना नाम, परिवार के मुखिया/ दावेदार से संबंध, उम्र, आधार कार्ड/ वोटर संख्या और घायल की स्थिति क्या है वह सब कॉलम में लिखना होगा। इसके साथ ही घायल की स्थिति: (1) स्थाई अक्षमता, (2) गंभीर चोट और (3) मामूली चोट इत्यादि का भी जिक्र करना होगा।

बेघर लोगों को मिलेगी आर्थिक मदद : केजरीवाल

घर और व्यवसाय में हुए नुकसान के लिए :
इसमें आपको अपना पता, प्रकार (दुकान/ रेहडी/ इत्यादि) और कितना नुकसान हुआ है वह सब भरना है। घर को हुए नुकसान का विवरण भी देना होगा। ई रिक्शा/ रिक्शा की क्षति के लिए विवरण देना होगा। 

वहीं, यह भी बताना होगा कि आप मालिक या किराएदार हैं। इसमें आपको अपने घर का पता और कितना नुकसान हुआ है, जानकारी देनी होगी। (घ) मृतक व्यक्ति का विवरण (यदि है): इसमें आपको अपना नाम, उम्र, पता और दावेदार से आपका संबंध किया है वह सब लिखना है।  

Delhi Riots: कल तक बसती थीं खुशियां जहां...आज है मातम

मृतक व्यक्ति का विवरण :-
मृतक व्यक्ति का विवरण (यदि है) तो नाम, उम्र, पता और दावेदार से उसका संबंध क्या है।   

दिल्ली दंगों में इस्तेमाल हुए युद्धक गुलेल समेत ऐसे-ऐसे हथियार

बैंक खाते का विवरण:
मुआवजा बैंक खाते के जरिए ही मिलेगा। इसके लिए पीड़ित को बैंक का नाम, खाता संख्या, एम आई सी आर कोड, आई एफ एस सी कोड (रद्द किए हुए चैक की प्रति संलग्न करें। अगर यह जानकारी उपलब्ध है। अंत में आपको दाहिने हाथ से अपने हस्ताक्षर करने हैं। 

सांप्रदायिक दंगों की आग बुझाने के लिए केजरीवाल सरकार जल्द जारी करेगी व्हाट्सएप नंबर

मरने वालों की संख्या 42 पहुंची
बता दें कि दंगा पीड़ितों के रिश्तेदार जीटीबी अस्पताल के मुर्दाघर के बाहर अपने परिजन के शव मिलने के लिए इंतजार में बैठे हैं। उत्तरपूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में हिंसा में कम से कम 42 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक लोग घायल हो गए। संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा है। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पंप को फूंक दिया और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया। बता दें कि शुक्रवार तक मरने वालों की संख्या 46 बताई गई, लेकिन एजेंसी के मुताबिक दिल्ली हिंसा में 42 लोगों की मौत हुई है।

comments

.
.
.
.
.