Thursday, Jun 30, 2022
-->
Delhi government forgot the scheme of free cleaning of septic tanks: Ramveer Singh Bidhuri

सेप्टिक टैंकों की मुफ्त सफाई की योजना भूल गई दिल्ली सरकार: रामवीर सिंह बिधूड़ी

  • Updated on 12/28/2021

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली सरकार सेप्टिक टैंकों की मुफ्त सफाई की योजना को भूल गई है। उन्होंने कहा कि जल बोर्ड टैंकों की सफाई नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे में       दिल्ली की 50 लाख आबादी के स्वास्थ्य पर गंभीर खतरा बना हुआ है। उन्होंने आग्रह किया कि मुख्यमंत्री दिल्ली जल बोर्ड को तुरंत निर्देश दें ताकि सेप्टिक टैंकों की सफाई की योजना लागू की जा सके। बिधूड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 2019 में सेप्टिक टैंकों की मुफ्त सफाई के लिए योजना घोषित की थी और प्राइवेट ठेकेदारों द्वारा सफाई कराने पर रोक लगा दी थी।

बिल्डर को कब्जा प्रमाण पत्र जारी करने के लिए NGT ने नोएडा प्राधिकरण को लगाई फटकार

प्राइवेट ठेकेदारों से सफाई पर रोक लगाने की दिल्ली सरकार की घोषणा के बावजूद हैरानी की बात यह है कि मुख्यमंत्री की यह घोषणा सिर्फ चुनावी वादा ही साबित हुई। उन्होंने कहा कि महीनों से सेप्टिक टैंकों की सफाई नहीं हुई। इससे खासतौर पर अनधिकृत कॉलोनियों और गांवों के लोगों का जीवन नारकीय बन रहा है। उन्होंने कहा कि कई-कई महीनों से सेप्टिक टैंकों की सफाई नहीं हो पाने से लोग परेशान हैं। बिधूड़ी ने कहा कि जल बोर्ड लोगों की शिकायतों पर कोई सुनवाई नहीं कर रहा। उन्होंने कहा कि आज भी करीब 45 लाख से अधिक लोगों के घरों में सीवर कनेक्शन नहीं हैं। इसलिए ये सभी लोग सेप्टिक टैंकों पर निर्भर हैं। इनके घरों से निकली गंदगी इन टैंकों में जाती है। उन्होंने कहा कि लेकिन उसकी सफाई का कोई व्यवस्थित तरीका नहीं है।

कोरोना संक्रमण : ‘येलो’ अलर्ट के बाद दिल्ली में स्कूल, कॉलेज, मॉल, सिनेमा हॉल बंद

बिधूड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने माना था कि लोग प्राइवेट ठेकेदारों से सफाई कराते हैं जिनके पास प्रशिक्षित स्टाफ नहीं है न ही ये ठेकेदार इस सफाई करने वाले स्टाफ को सफाई के आधुनिक उपकरण मुहैया कराते हैं। इससे बहुत-से सफाई कर्मचारियों की सेप्टिक टैंकों में मौत हो जाती है। बिधूड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल चुनावों में किए गए अपने वादों को न भूलें और लोगों को नारकीय जीवन से बचाएं अन्यथा इन इलाकों में भयंकर बीमारियां फैल सकती हैं। 

comments

.
.
.
.
.