Wednesday, Dec 01, 2021
-->
Delhi government give compensation at the rate of 50 thousand acre: Ramveer Bidhuri

बारिश से बर्बाद हुई फसल, दिल्ली सरकार 50 हजार रुपये एकड़ की दर से मुआवजा दे:रामवीर सिंह बिधूड़ी

  • Updated on 9/22/2021

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। 

 

 

एक दशक से डीडीए वीसी को सचिव स्तरीय पद पर मिलती रही है पदोन्नति
-मौजूदा वीसी अनुराग जैन हुए सचिव, तबादला
नई दिल्ली, 22 सितंबर(निशांत राघव/ नवोदय टाइम्स): यह महज इत्तेफाक है या फिर केंद्रीय आवास एवं शहरी मामला मंत्रालय के अधीन दिल्ली विकास प्राधिकरण के वीसी के पद की अहमियत। इस पद पर पिछले एक दशक  में अब तक नियुक्त हुए सभी वीसी सचिव अथवा अतिरिक्त सचिव स्तरीय पद पर पदोन्नत होकर ही यहां से रुखसत हुए हैं। ताजा मामले में डीडीए के मौजूदा वीसी अनुराग जैन भी अब सचिव के रूप में पदोन्न हो गए हैं। उन्हें कामर्स एंड इंडस्ट्री मंत्रालय में भेजा गया है। 
डीओपीटी की तरफ से जारी पदोन्नत सूची में उनका नाम शामिल होने के साथ ही अब डीडीए में एक बार फिर से नए वीसी की नियुक्ति की कवायद आरंभ हो गई है। 
दरअसल इनसे पहले डीडीए वीसी पद पर तैनात रहे आईएएस तरुण कपूर का भी यहां से पेट्रोलियम मंत्रालय में सचिव के रूप में नियुक्ति के साथ ही तबादला हुआ था। जबकि उससे पहले चाहें अरुण गोयल  हों, संजय कुमार या फिर बलविंदर कुमार रहे हों। इन सभी वरिष्ठ आईएएस को सचिव अथवा अतिरिक्त सचिव के रूप में पदोन्नति के बाद ही डीडीए वीसी के पद से तबादला किया गया। बलविंदर कुमार खनन मंत्रालय में सचिव के रूप में कार्य करने के बाद फिलहाल रेरा यूपी में कार्यरत हैं। वैसे डीडीए वीसी का पद कितना महत्वपूर्ण है, अंदाजा इस बात से भी लगा सकते हैं कि अब तक एक दशक या उससे पहले से भी इस पद पर वरिष्ठ आईएएस को ही नियुक्त किया जाता रहा है। यही वजह भी है कि हालांकि 2015 में इस पद का रुतबा ही बढ़वाने का प्रयास भी किया गया था। ताकि मंत्रालय में पद खाली न होने की स्थिति में भी सचिव स्तरीय वरिष्ठ अधिकारी यहां कार्य कर सके। लेकिन केंद्र सरकार की तरफ से इसके लिए मंजूरी नहीं मिल सकी। 

comments

.
.
.
.
.