Wednesday, Jun 03, 2020

Live Updates: Unlock- Day 2

Last Updated: Tue Jun 02 2020 11:13 PM

corona virus

Total Cases

207,085

Recovered

100,205

Deaths

5,829

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA72,300
  • TAMIL NADU24,586
  • NEW DELHI22,132
  • GUJARAT17,632
  • RAJASTHAN9,373
  • UTTAR PRADESH8,729
  • MADHYA PRADESH8,420
  • WEST BENGAL6,168
  • BIHAR3,945
  • ANDHRA PRADESH3,676
  • KARNATAKA3,221
  • TELANGANA2,792
  • JAMMU & KASHMIR2,601
  • HARYANA2,356
  • PUNJAB2,301
  • ODISHA2,104
  • ASSAM1,486
  • KERALA1,327
  • UTTARAKHAND959
  • JHARKHAND661
  • CHHATTISGARH548
  • TRIPURA423
  • HIMACHAL PRADESH340
  • CHANDIGARH297
  • MANIPUR83
  • PUDUCHERRY79
  • GOA73
  • NAGALAND43
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA28
  • ARUNACHAL PRADESH20
  • MIZORAM13
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
delhi government to convert schools into night shelters due to heavy crowd djsgnt

भारी भीड़ के चलते सरकारी स्कूलों को रैन बसेरों में बदलेगी दिल्ली सरकार

  • Updated on 3/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते प्रकोप और लॉक डाउन (Lockdown) के चलते बेरोजगार हो गए लोगों के लिए कई सरकारी स्कूलों को नाईट शेल्टर में तब्दील किया जा रहा है। इस तरह स्कूलों में खाने के साथ रहने की भी व्यवस्था की जा रही है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने शनिवार को आईपी एक्सटेंशन  स्थित सर्वोदय को-ऐड सीनियर सेकेंडरी स्कूल का दौरा किया। इस स्कूल को रैन बसेरे में तब्दील किया जा रहा है। इस स्कूल में 35 कमरे हैं। इसमें 200 बेड लगाए जा रहे हैं।

सड़क पर आए गरीब लोग यहां रह सकेंगे और भोजन कर सकेंगे। सिसोदिया ने कहा कि अन्य स्कूलों को भी रैन बसेरों के रूप में तैयार किया जाएगा। अभी स्कूलों में एक हजार से अधिक बेड लगाए जा रहे हैं। इसी के साथ सरकार ने शनिवार से 568 स्कूलों में मुफ्त भोजन के इंतजाम किए हैं

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास

4 टाइम का मिलता है खाना
बता दें, दिल्ली सरकार द्वारा चलाए जा रहे रैन बसेरों में सीमित जगहें होती हैं। जिसके चलते 50 लोगों के ठहराओं वाले जगह पर हजारों आ जाते हैं। इसको देखते हुए सरकार ने सरकारी स्कूल में व्यवस्था करने का निर्णय लिया गयै। इनमें रह रहे लोगों के लिए भोजन की व्यव्स्था रहती है। हर रात करीब 2 बजे एक ट्रक कच्चा माल लेकर रैन बसेरे में पहुंचता है। सुबह 7 बजे से लोगों को भोजन बंटना शुरू हो जाता है। दिन में 4 टाइम खाना यहां लोगों को दिया जाता है। इसके साथ ही कई स्वयंसेवी भी दिन के समय में आकर लोगों को सूखा खाने का सामान बांट जाते हैं।

कोरोना लॉकडाउन : योगी सरकार ने दिल्ली में मदद को स्थापित किया कंट्रोल रूम

18 घंटे की ड्यूटी कर रहा रैन बसेरे का स्टाफ
यहां के स्टाफ का कहना है कि यहां साफ-सफाई की समस्या है। हालांकि वो अपनी ओर से पूरी कोशिश करते हैं कि सफाई रखी जाए। इसके साथ ही लाउडस्पीकर के जरिए लोगों को भी स्वच्छता के विषय में जागरुक किया जाता है। लेकिन यहां अब भी मास्क और सेनेटाइजर की कमी है। जिस पर प्रशासन को ध्यान देने की जरूरत है। सामान्य दिनों में रैन बसेरों के कर्मचारी 10 घंटे की ड्यूटी करते हैं, लेकिन इस समय ये लोग 18 घंटे की ड्यूटी कर रहे हैं।

वायरस से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ें

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

क्या है कोरोना वायरस? जानें, बीमारी के कारण, लक्षण व समाधान

इन आयुर्वेदिक उपायों का करें इस्तेमाल, नहीं आएगा Coronavirus पास 

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

मिल गया Coronavirus का इलाज! जल्द ठीक हो सकेंगे सभी संक्रमित 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.