Thursday, May 06, 2021
-->
Delhi Govt HSRP on Vehicles Door Step Delivery KMBSNT

दिल्ली: घर बैठे लगेगी गाड़ियों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, परिवहन मंत्री ने बुलाई बैठक

  • Updated on 10/5/2020

नई दिल्ली/ताहिर सिद्दिकी। वाहनों पर हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) और कलर कोडेड स्टीकर नहीं होने पर कार्रवाई किए जाने वाले 22 सितंबर के दिल्ली सरकार (Delhi Govt) के पब्लिक नोटिस पर हड़कंप मचा हुआ है। लोग परेशान है लेकिन उनकी परेशानी दूर होने की बजाय बढ़ने लगी है। सूत्र बताते हैं कि ऐसे में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Kailash Gahlot) ने वाहन मालिकों की समस्या का समाधान निकालने के लिए मंगलवार को वाहन निर्माता कंपनियों और परिवहन विभाग के आला अधिकारियों की मीटिंग बुलाई है। ताकि एचएसआरपी और कलर कोडेड स्टीकर को लगवाने में जो भी समस्या आ रही है उसे दूर किया जा सके।

सरकार ने साफ कर दिया है कि अभी हम ऐसे वाहनों पर कार्रवाई शुरू नहीं कर रहे हैं, बल्कि वाहन मालिकों को इसे लगवाने के लिए पूरा समय दिया जाएगा।

Delhi Air Pollution: दिल्ली की हवा में फिर घुलने लगा जहर, जानें क्या है आज का AQI

30 लाख से अधिक वाहनों में नहीं है HSRP
बता दें कि एचएसआरपी या कलर कोडेड स्टीकर जिन वाहनों में नहीं है उनकी दिल्ली में संख्या 30 लाख से अधिक है। सरकार की मंशा लोगों को घर पर बैठे इसे लगवाने की सुविधा देने की भी है। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का कहना है कि इसे लेकर लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। अभी सरकार एचएसआरपी और कलर स्टीकर नहीं होने पर वाहनों पर कार्रवाई शुरू नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि इसे लगवाने के लिए सही तरीके से इंतजाम करने और पूरा समय देने के बाद ही परिवहन विभाग कार्रवाई करेगा।

परिवहन मंत्री ने कहा कि लोगों की समस्या को कैसे दूर किया जाए इसे लेकर बैठकें की जा रही हैं। इस मुद्दे पर वाहन निर्माता कंपनियों के प्रतिनिधियों को मंगलवार को बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि वाहन निर्माता कंपनियों ने इसे लगवाने के लिए तीन अलग-अलग वेबसाइट दे रखी है, लेकिन हमारी कोशिश रहेगी कि आवेदन के लिए एक ही वेबसाइट रहे ताकि लोगों को आसानी रहे।

राहत! दिल्ली में कोरोना की रिकवरी दर फिर से पहुंची 90 फीसदी के करीब

HSRP की डोर स्टेप डिलीवरी की सुविधा देने की तैयारी में सरकार
परिवहन मंत्री ने कहा कि दिल्ली में 35 से 40 लाख ऐसे वाहन हैं जिनमें हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट या कलर कोडेड स्टीकर लगाना है। परिवहन मंत्री ने कहा कि इसे लगाने के लिए डोर स्टेप डिलीवरी की भी सुविधा दी जाएगी। बता दें कि वाहनों पर लगने वाले हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट और होलोग्राम वाले रंगीन स्टीकरों को लगाने के लिए दिल्ली में 236 डीलरों को अधिकृत किया गया है। इसमें से 170 डीलरों के पास यह सुविधा मौजूद है और बाकी करीब 60 डीलरों के पास भी यह सुविधा जल्द शुरू हो जाएगी।

दिल्ली में कोरोना का कहर बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 2.90 लाख पार

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था ये आदेश
सुप्रीम कोर्ट के 2012 और 2018 के निर्देश पर यह व्यवस्था शुरू की गई है। यह व्यवस्था चार पहिया,  दो पहिया और ई-रिक्शा आदि सभी के लिए है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन आंकड़ों से पता चल सकेगा कि वाहन में किस तरह के ईंधन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

प्रदूषण को लेकर एक मामले में सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कारों पर रंगीन स्टीकर लगाए जाने के आदेश दिए थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने भी कहा कि दिल्ली में बिना हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट और स्टीकर लगी गाड़ियों के खिलाफ अभी अभियान नहीं चलाया जाएगा। इससे पहले नंबर प्लेट और स्टीकर लगाने का मौका दिया जाएगा। इससे पहले दिल्ली में वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए पूरी तैयारी नहीं होने से इसे टाल दिया गया था लेकिन अभी से शुरू कर दिया गया है।

बता दें कि राजधानी में एक करोड़ से अधिक वाहन है। इनमें नए वाहनों में पहले से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगी हुई है जबकि पुराने वाहनों को नंबर प्लेट बदलने के लिए समय दिया गया है। विभाग इस प्लेट और स्टीकर को अनिवार्य तौर पर लागू करने की दिशा में काम कर रहा है। 

comments

.
.
.
.
.