Monday, May 16, 2022
-->
delhi-govt-plan-to-fight-against-third-wave-of-corona-kmbsnt

CM केजरीवाल ने बताया तीसरी लहर से लड़ने के लिए क्या है दिल्ली का प्लान

  • Updated on 6/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में कोरोना की दूसरी लहर के कंट्रोल में आने के बाद आज शनिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अनलॉक शुरू करने का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए सरकार की क्या तैयारियां रहेंगी। डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीएम केजरीवाल ने बताया कि उन्होंने शुक्रवार को करीब 6 घंटे तक दो महत्वपूर्ण  बैठकें की। 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि हमने 2 कमेटी बनाई हैं। इस बार कोरोना की पीक 28 हजार की आई थी। अप्रैल माह में कोरोना के एक दिन में 28 हजार केस मिल रहे थे। हमने विशेषज्ञों के साथ बैठक की जिन्होंने बताया कि अगली पीक 37 हजार की हो सकती है। इसके लिए तैयारी की जा रही है। इससे ज्यादा की पीक के लिए भी हम तैयार हैं।

ऑक्सीजन की कमी से मौत मामले में CBI जांच की मांग, केंद्र और दिल्ली सरकार को HC का नोटिस

बच्चों के लिए बनाएंगे पीडिएट्रिक टास्क फोर्स
मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि तीसरी लहर से लड़ने के लिए सरकार ने एक पीडिएट्रिक टास्क फोर्स बनाई है। ये तय करेगी की बच्चों के लिए ऑक्सीजन बेड, आइसीयू बेड कितने होंगे। उनके लिए किस प्रकार की व्यवस्था होगी। इस टास्क फोर्स की सिफारिशों के बाद बच्चों के लिए उसी प्रकार की व्यव्सथा की जाएगी।  

बढ़ाएंगे ऑक्सीजन का स्टॉक 
इस बार हुई ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए सरकार आगे की तैयारी कर ही है। तीसरी लहर में दिल्ली में ऑक्सीजन के लिए त्राही-त्राही न हो इसके लिए अभी से तैयारी शुरू की जा रही है। 420 टन ऑक्सीजन स्टोरेज कपैसिटी तैयार की जा रही है। 64 छोटे ऑक्सीजन के प्लांट लगाए जा रहे हैं। 6 हजार सिलेंडर चीन से आयात किए थे। इसी प्रकार आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसंट्रेटर आगे भी खरीदे जाएंगे।  

कोरोना की दवाओं के लिए दो महत्वपूर्ण फैसले 
सीएम केजरीवाल ने बताया कि दवाओं को लेकर दो अहम निर्णय लिए गए। डॉक्टरों की टीम बनाई जाएगी। जो बताएंगे कि दवा से कोरोना में फायदा होगा या नहीं होगा। अगर डॉक्टर मना करते हैं तो लोगों को इसके प्रति जागरुक करेंगे। इन दिनों व्हाट्सएप में भ्रामक जानकारी दिए जाने के चलते लोग एक दवा के पीछे लग जाते हैं। इसी भ्रम वाली स्थिति से निजात पाने के लिए डॉक्टरों की ये टीम बनाई गई है। इसके अलावा महत्वपूर्ण दवाओं की लिस्ट बना ली गई है। उनका बफर स्टॉक बनाया जाएगा।

AIIMS निदेशक ने बताया कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए कितनी खतरनाक, क्या है उपाय

जीनोम सिक्वेंसिंग लैब बनाई जाएगी
इसके साथ ही दिल्ली में एक जीनोम सिक्वेंसिंग लैब बनाई जा रही है। ताकि दिल्ली में आने वाले वैरिएंट के बारे में पता रहे। ये जानकारी मिलती रहे कि दिल्ली में जो कोरोना वैरिएंट है वो किस प्रकार का है और उससे कितना खतरा है।  

comments

.
.
.
.
.