Monday, May 16, 2022
-->
delhi high court directions for election commission on vvpat evms  probe

लोकसभा की #VVPAT पर्चियों की जांच को लेकर EC को हाई कोर्ट का निर्देश

  • Updated on 1/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली उच्च न्यायालय ने चुनाव आयोग (ईसी) से 2019 के लोकसभा चुनाव में सभी निर्वाचन क्षेत्रों की इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) की वीवीपीएटी पर्चियों का निरीक्षण करने की मांग संबंधी एक याचिका को प्रतिवेदन के रूप में लेने को कहा। 

कालंदी कुंज-शाहीन बाग मार्ग को खोलने की याचिका पर हाई कोर्ट का नोटिस

इस निर्देश के साथ मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर की पीठ ने याचिका का निस्तारण कर दिया जिसमें ईवीएम के वीवीपीएटी पर्चियों का निरीक्षण करने देने की मांग की गयी है। याचिका में दावा किया गया है कि चुनाव आयोग द्वारा अपनी वेबसाइट पर उपलब्ध कराये आंकड़ों के अनुसार करीब 373 निर्वाचन क्षेत्रों में डाले गये और गिनती किये गये मतों में विसंगति है। 

परवेज वर्मा बोले- सरकारी जमीन पर निर्मित मस्जिदों को किया जाएगा ध्वस्त

याचिकाकर्ता हंसराज चैन ने दलील दी कि चुनाव आयोग ने चुनाव प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के वास्ते 16,15000 वीवीपीएटी ईवीएम खरीदने के लिए सरकार से 3,173.47 करोड़ रुपये जारी करवाये।

'लगे रहो केजरीवाल' के सॉन्ग पर तिवारी के बाद मोदी और ट्रंप भी थिरके!

याचिका में दावा किया गया है कि ज्यादातर निर्वाचन क्षेत्रों में डाले गये मतों और गिनती किये गये मतों की संख्या के बीच कथित तौर पर ‘बहुत बड़ी विसंगति’ से याचिकाकर्ता समेत मतदाताओं के मन में संदेह पैदा होता है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गयी। 

अमित शाह अगले हफ्ते नड्डा को बना सकते हैं #BJP का पूर्णकालिक अध्यक्ष

लोकसभा चुनाव की पर्चियों का निरीक्षण करने के अलावा याचिका में चुनाव आयोग को यह सुनिश्चित करने का भी निर्देश देने की मांग की गयी है कि भविष्य में इन र्पिचयों की भी गिनती की जाए। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.