Saturday, Jan 25, 2020
delhi high court judge separated himself on hearing petition of jet airways naresh goyal

नरेश गोयल की याचिका पर सुनवाई से जज ने खुद को किया अलग

  • Updated on 7/5/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली उच्च न्यायालय के एक न्यायाधीश ने जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल की उस याचिका पर सुनवाई करने से शुक्रवार को खुद को अलग कर लिया, जिसके तहत उनके खिलाफ जारी एक ‘‘लुकआउट सर्कुलर’’ (एलओसी) को चुनौती दी गई है। यह सर्कुलर उन्हें विदेश यात्रा करने से प्रतिबंधित करता है। 

बजट 2019 : #NGO की होगी शेयर बाजार में एंट्री, बनेगा सोशल स्टॉक एक्सचेंज

यह विषय जब सुनवाई के लिए न्यायमूॢत विभू बाखरू के समक्ष आया, तब उन्होंने कहा कि इसे किसी अन्य पीठ के समक्ष ले जाना होगा। उन्होंने इस मामले को किसी अन्य न्यायाधीश के समक्ष नौ जुलाई को सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया। हालांकि, न्यायाधीश ने इस विषय की सुनवाई से खुद को अलग करने का कोई कारण नहीं बताया।

आर्थिक सर्वेक्षण में अदालतों की छुट्टियों पर गाज गिरने पर है नजर

गोयल की याचिका के मुताबिक गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) के अनुरोध पर उनके खिलाफ यह सर्कुलर जारी किया गया। यह कार्यालय कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय के तहत आता है। उन्होंने सर्कुलर और ऐसे कई कार्यालय ज्ञापनों को भी रद्द करने का अनुरोध किया, जो यात्रा प्रतिबंध जारी करने के लिए दिशानिर्देश निर्धारित करते हैं। 

शेयर बाजार में लगातार चौथे दिन उछाल, बजट पर हैं नजरें

गोयल ने बताया कि उन्हें 25 मई को सर्कुलर के बारे में पता चला, जब उनकी पत्नी अनीता को दुबई जाने वाली एक उड़ान से उतार दिया गया। उन्होंने यह भी दलील दी कि उनके खिलाफ कोई ईसीआईआर/एफआईआर दर्ज नहीं की गई है और उन्हें सर्कुलर जारी करने के लिए आवश्यक किसी मामले में आरोपी के तौर पर नामजद नहीं किया गया है। 

उच्च शिक्षण संस्थाओं में खाली पड़े हैं 80 हजार से ज्यादा पद, संसद में जताई चिंता

कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय के मुताबिक मंत्रालय के एक निरीक्षण में जेट एयरवेज में बड़े पैमाने पर अनियमितता पाए जाने पर सर्कुलर जारी किया गया। इस एयरलाइन कंपनी के विमानों का परिचालन गंभीर वित्तीय संकट के चलते अप्रैल में बंद कर दिया गया था।  

न्यायमूर्ति कुरैशी के नाम को मंजूरी में देरी के खिलाफ SC में याचिका दायर

नरेश और अनीता गोयल ने मार्च में जेट एयरवेज के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया था। नरेश ने एयरलाइन के चेयरमैन पद से भी इस्तीफा दे दिया। इस बीच, मंत्रालय ने जेट एयरवेज के मामलों की एसएफआईओ से भी जांच कराने का आदेश दिया है।

कांग्रेस नेताओं को सताई पार्टी के भविष्य की चिंता, हरिश रावत भी आहत

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.