Friday, Jan 28, 2022
-->
delhi high court raised questions on traffic challan told poor  rkdsnt

दिल्ली हाई कोर्ट ने यातायात चालान को लेकर उठाए सवाल, बताया खराब सिस्टम

  • Updated on 11/25/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) में एक याचिका दायर कर दावा किया गया है कि मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम 2019 के तहत चालान जारी करने का तंत्र मनमाना और खराब है तथा बेहतर प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर इसमें सुधार किया जाना चाहिए। 

दिल्ली दंगों में आरोपी ताहिर हुसैन की जमानत याचिका पर पुलिस से जवाब तलब

वकील सोनाली करवासरा ने याचिका में कहा कि बिना उचित विश्वस्त प्रौद्योगिकी के चालान जारी किए जा रहे हैं और यातायात उल्लंघन की निगरानी के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्रौद्योगिकी के मानकीकरण की आवश्यकता है।

कंगना रनौत को सांप्रदायिक ट्वीट मामले में हाईकोर्ट से मिली राहत

उन्होंने दावा किया है कि यातायात नियम तोडऩे वालों का पता लगाने के लिए अधिकारियों द्वारा उपयोग की जाने वाली 'अप्रचलित और पुरानी प्रौद्योगिकी के कारण अधिनियम को कुशलतापूर्वक लागू करने में 'कई रोड़े' हैं। 

वकार को भारत और आस्ट्रेलिया के बीच रोमांचक और कड़े मुकाबले की उम्मीद

उनकी याचिका में आरोप लगाया गया है कि इस तरह की कई मिसालें हैं कि खराब उपकरण की वजह से भारी जुर्माना लगाया गया और बाद में उसे रद्द किया गया। अपनी याचिका में उन्होंने एक ऐसा ही उदाहरण दिया जिसमें एनएच 24 पर यातायात विभाग द्वारा अगस्त से 10 अक्टूबर 2019 के बीच तेज गति से वाहन चलाने पर किए 1.57 लाख से ज्यादा चालानों को कथित रुप से वापस लिया गया था।

AAP ने दिल्ली में प्रदूषण के लिए पंजाब, हरियाणा के मुख्यमंत्रियों को ठहराया जिम्मेदार

 

 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.