Monday, Aug 02, 2021
-->
delhi high court say foundation nation very strong not shaken college students protests rkdsnt

राष्ट्र की नींव बेहद मजबूत, कॉलेज छात्रों के प्रदर्शन से हिलने वाली नहीं: अदालत

  • Updated on 6/15/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली उच्च न्यायालय ने जामिया के छात्र आसिफ इकबाल तनहा को मंगलवार को जमानत देते हुए कहा कि हमारे राष्ट्र की नींव बहुत मजबूत है और यह कॉलेज के कुछ छात्रों’’ द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन से हिलने वाली नहीं है। अदालत ने कहा कि यूएपीए कानून के तहत प्रथम दृष्टया तनहा के विरुद्ध कोई मामला नहीं बनता। उच्च न्यायालय ने कहा कि विधि विरुद्ध क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम (यूएपीए) के कड़े प्रावधानों के तहत लोगों पर मामला दर्ज करना, संसद के उस उद्देश्य की अवहेलना करना होगा जिसके लिए यह कानून बनाया गया था। 

भारतीय प्रेस परिषद ने टीवी पत्रकार की मौत पर यूपी की योगी सरकार से मांगी रिपोर्ट 

अदालत ने कहा कि इस कानून का उद्देश्य राष्ट्र के अस्तित्व के प्रति उत्पन्न खतरे से निपटना है। जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल और जस्टिस अनूप जयराम भम्भाणी की पीठ ने 133 पृष्ठ के आदेश में कहा, 'खतरे और आतंकवाद की आशंका के इस पक्ष को संज्ञान में लेने के बाद हमारा मत है कि हमारे राष्ट्र की नींव मजबूत है और इसे दिल्ली के बीचोबीच स्थित विश्वविद्यालय परिसर के भीतर से संचालित कॉलेज के छात्रों या किसी और के द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन नहीं हिला सकते, चाहे वह कितने भी द्वेषपूर्ण हों।’’ 

UAPA को लापरवाह तरीके से लागू नहीं किया जा सकता: दिल्ली हाई कोर्ट 

अदालत ने कहा कि आरोपपत्र में लगाए गए आरोप तथ्यविहीन हैं। पीठ ने कहा, 'अपीलकर्ता (तनहा) ने जो भी अपराध किए होंगे या नहीं किए होंगे, कम से कम प्रथम दृष्टया सरकार हमें अपनी दलीलों से संतुष्ट नहीं कर सकी कि यूएपीए की धाराओं 15, 17 या 18 के तहत अपराध किया गया।’’  तनहा और अन्य पर भारतीय दंड संहिता, यूएपीए और सार्वजनिक संपत्ति क्षति निवारण कानून की कई धाराओं में मामले दर्ज हैं। 

चिराग पासवान LJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाए गए, चाचा पारस हुए पार्टी में हावी

तनहा को जमानत पर रिहा कर दिया जाएगा क्योंकि एक अन्य मामले में भी उसे जमानत मिल गई है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में पिछले साल 24 फरवरी को दंगे हुए थे जिसमें 53 लोगों की मौत हो गई थी और लभगग 200 घायल हो गए थे। तनहा पर इसी मामले में आरोप थे । 

राम मंदिर ट्रस्ट के ‘घोटाले’ पर राहुल बोले- श्रीराम स्वयं न्याय हैं, उनके नाम पर धोखा अधर्म है!

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.