Tuesday, Dec 07, 2021
-->
delhi-home-isolation-policy-delhi-govt-coronavirus-pandemic-kmbsnt

जानें दिल्ली में किन लोगों को मिल सकेगा होम आइसोलेशन, ये हैं शर्तें

  • Updated on 6/22/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोरोना मरीजों के लिए 5 दिन के इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन को भले ही निरस्त कर दिया, लेकिन सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों को कोरोना केयर सेंटर जांच के लिए जाना अनिवार्य कर दिया है। दिल्ली सरकार के आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि कोरोना मरीजों के लिए उपराज्यपाल के नए आदेश से दिल्ली में अफरा-तफरी का माहौल बनेगा।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक के बाद दिल्ली सरकार के प्रधान स्वास्थ्य सचिव विक्रम देव दत्त ने रविवार देर रात आदेश जारी किया कि किसी भी व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर कोविड केयर सेंटर भेजा जाएगा और मरीज की क्लीनिकल जांच का जाएगी। मरीज में कोरोना की गंभीरता का आंकलन होगा कि कोरोना के लक्षण हल्के है या गंभीर।

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 59 हजार के पार

घर में होनी चाहिए ये सुविधा तभी मिलेगा होम आइसोलेशन
मरीज में पहले से किसी भी गंभीर बीमारी से ग्रस्त होने संबंधी जानकारी ली जाएगी। हल्के कोरोना ग्रस्त मरीज के घर में कम से कम 2 कमरे और अलग शौचालय है या नहीं, यह देखा जाएगा तभी हम आइसोलेशन की अनुमति मिलेगी। ताकि परिवार के अन्य सदस्य व पड़ोसी तक कोरोना न फैल सके।

मानसून के मद्देनजर दिल्ली PWD में अवकाश लेने की इजाजत नहीं

दिल्ली सरकार के सामने ये समस्या
दिल्ली सरकार के आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि इस आदेश से सबसे बड़ी समस्या खड़ी हो गई है कि होम क्वरांटीन में रह रहे हजारों कोरोना मरीजों को कोरोना केयर सेंटर कौन लेकर जाएगा? क्योंकि दिल्ली में मेडिकल स्टाफ पर एंबुलेंस की संख्या इतनी नहीं है कि वह सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों को कोरोना केयर सेंटर ले जा सके। 

दिल्ली में बड़ी वारदात को अंजाम देने घुसे जैश और लश्कर के आतंकी, हाई अलर्ट जारी

गंभीर लक्षण होने पर जाना होगा अस्पताल
सूत्रों का कहना है कि अगर कोरोना पॉजिटिव मरीज अपने परिवार के साथ अपनी गाड़ियां टैक्सी में जाता है तो इससे अन्य लोगों और परिवार के सदस्यों के संक्रमित होने का खतरा बढ़ेगा। प्रधान स्वास्थ्य सचिव ने आदेश में कहा है कि कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीज को होम आइसोलेशन की अनुमति होगी, लेकिन जांच में पॉजिटिव मरीज में गंभीर लक्षण पाए जाने या पहले से गंभीर बीमारी से ग्रसित होने वाले कोरोना मरीज को अस्पताल में भर्ती होना होगा। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.