Monday, Jan 24, 2022
-->
Delhi Increased number of tourists on historical buildings due to capping removal ALBSNT

दिल्लीः कैपिंग हटने से बढी ऐतिहासिक इमारतों पर पर्यटकों की संख्या

  • Updated on 12/21/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हाल ही में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा कैपिंग को हटा दिया गया है। जिसके बाद ऐतिहासिक इमारतों में तय सीमा में आने वाले पर्यटकों की बाध्यता समाप्त हो गई है और अब ऑनलाइन के अलावा ऑफलाइन टिकट भी उन स्मारकों पर लागू कर दिया गया है जहां क्यूआर कोड की व्यवस्था नहीं थी। टिकट संबंधी पाबंदियां हटने के बाद कई स्मारकों पर पर्यटकों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। 

दिल्लीः आज से मिलेगा राजधानीवासियों को सरकारी राशन, मीटिंग में फैसला

बता दें कि लालकिला, कुतुबमीनार, हुमायूं का मकबरा, पुराना किला, सफदरजंग का मकबरा जैसे बडे ऐतिहासिक इमारतों पर क्यूआर कोड की व्यवस्था है लेकिन नेटवर्क प्राॅब्लम के चलते कई बार पर्यटकों को भारी परेशानी का सामना करना पड रहा था। वहीं जितने पर्यटक अमूमन इन ऐतिहासिक इमारतों पर आते थे उतने नहीं आ रहे थे लेकिन जैसे ही पर्यटकों की तयसीमा के साथ ही नेटवर्क प्राॅब्लम होने पर आॅफलाइन टिकट की व्यवस्था शुरू की गई तो पर्यटकों की संख्या बढ गई।

ब्रिटेन में बेकाबू कोरोना वायरस से ग्लोबल मार्केट में हड़कंप, सेंसेक्स भी धड़ाम 

उसमें भी कई ऐसे ऐतिहासिक इमारत जैसे रहीम-खाने-खाना का मकबरा, कोटला फिरोजशाह, सुल्तान गारी, तुगलकाबाद किला सहित मिनी सर्किल के कई ऐतिहासिक इमारतों में धूमने पर्यटक पहुंच रहे हैं। वहीं ऑनलाइन एडवांस टिकट भी धडल्ले से बिक रही है। जैसे लालकिले की 22 दिसंबर की करीब 1000 टिकट पहले ही एडवांस बुक हो चुकी है। जबकि कुतुबमीनार की 1500 टिकट व हुमायूं मकबरे की 500 टिकट बुक हुई हैं।

इस हफ्ते लगातार इतने दिन बंद रहेंगे बैंक, पहले निपटा लें अपने सभी जरूरी काम

छुट्टियों पर बढेेंगे और अधिक पर्यटक 
25 दिसंबर से लेकर नए साल के बीच ऐतिहासिक इमारतों में धूमने आने वाले पर्यटकों की संख्या बढने का एएसआई अनुमान लगा रही है। दरअसल हर साल क्रिसमस व नए साल पर देश ही नहीं बल्कि विदेशों से भी दिल्ली के ऐतिहासिक स्थलों पर धूमने पर्यटक आते हैं।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.