Sunday, May 22, 2022
-->
delhi: lg turns down proposal to lift weekend curfew

50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे दफ्तर; LG ने वीकेंड कर्फ्यू हटाने का प्रस्ताव ठुकराया

  • Updated on 1/21/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने निजी दफ्तरों को 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति देने वाले दिल्ली सरकार के प्रस्ताव को शुक्रवार को मंजूरी दे दी। सूत्रों ने बताया कि उपराज्यपाल ने सप्ताहांत पर लगा कर्फ्यू हटाने और बाजारों में दुकानें सम-विषम के आधार पर खोलने जैसे कदमों पर यथास्थिति बनाए रखने की सलाह दी।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोविड हालात में और सुधार होने की सूरत में सप्ताहांत पर लगने वाला कर्फ्यू हटाने को लेकर फैसला लिया जा सकता है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिन में संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि दिल्ली सरकार ने सप्ताहांत पर लगा कर्फ्यू और सम-विषम के आधार पर बाजार में दुकानें खोलने की व्यवस्था को समाप्त करने और शहर में निजी दफ्तरों को 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति देने का प्रस्ताव रखा है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रस्ताव को मंजूरी देने के बाद उसे उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास उनकी मंजूरी के लिए भेजा है। उन्होंने बताया कि शहर में कोविड के कम होते मामलों और जीविका तथा व्यवसायों पर उसके प्रभावी में कमी आने के मद्देनजर पाबंदियों में छूट देने का फैसला लिया गया है।  

इसके पहले दिल्ली सरकार ने सप्ताहांत कर्फ्यू हटाने, दुकानों को खोलने के लिए सम-विषम व्यवस्था को समाप्त करने और शहर में निजी कार्यालयों को 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ संचालित करने की अनुमति देने का प्रस्ताव दिया है। आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि प्रस्ताव को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से स्वीकृति मिल गई है और अब इसे मंजूरी के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेजा गया है। सूत्रों ने कहा कि प्रतिबंधों में ढील देने का फैसला दिल्ली में कोविड-19 के मामलों की घटती संख्या को देखते हुए लिया गया है।

शहर के कई हिस्सों में कारोबारियों ने सम- विषम व्यवस्था के आधार पर वैकल्पिक दिनों में गैर-जरूरी सामान बेचने वाली दुकानों पर लगाए गए प्रतिबंधों को हटाने की मांग की है।  

दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर की पीक गुजर चुकी है: सत्येंद्र जैन

कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर लगाया गया सप्ताहांत कर्फ्यू शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह पांच बजे तक लागू है। अगर उपराज्यपाल दिल्ली सरकार के प्रस्ताव को अनुमति देते हैं तो इस कर्फ्यू को खत्म कर दिया जाएगा। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने एक जनवरी को शहर में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर सप्ताहांत में कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया था।

गैर- जरूरी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए शुक्रवार रात से सप्ताहांत कर्फ्यू शुरू हो गया है। कार्य दिवसों के दौरान रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू पहले से ही लागू है। डीडीएमए ने गैर- आवश्यक सेवाओं से जुड़े सभी निजी कार्यालयों को बंद करने सहित अन्य प्रतिबंध भी लगाए थे। पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के मामलों की दैनिक संख्या और संक्रमण दर में कमी देखी गई है।

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण के 12,306 नए मामले आए थे तथा 43 लोगों की मौत हो गई। जबकि, संक्रमण दर घटकर 21.48 प्रतिशत हो गई।

शहर ने 13 जनवरी को 28,867 नए मामलों के साथ संक्रमण दर 29.21 प्रतिशत थी, जो महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन में सबसे अधिक थी। इसके बाद शुक्रवार को मामलों की संख्या घटकर 24,383 हो गई, शनिवार को 20,718, रविवार को 18,286, सोमवार को 12,527 और पिछले सप्ताह मंगलवार को 11,684 रह गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.