Friday, Oct 29, 2021
-->
delhi medical association sir ganga ram hospital fir delhi government, pragnt

सर गंगा राम अस्पताल पर FIR से भड़का DMA, कहा- सरकार कर रही डॉक्टरों का अपमान

  • Updated on 6/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या में काफी तेजी से उछाल आ रहा है। यहां आए दिन 1000 से अधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं, जो कि दिल्ली सरकार (Delhi Government) के लिए काफी चिंता की बात है। इस बीच दिल्ली के एक नामी सर गंगा राम अस्पताल (Sir Ganga Ram Hospital) में लापरवाही का मामला सामने आया। जिसके बाद दिल्ली सरकार ने कार्रवाई करते हुए अस्पताल के खिलाफ कोरोना टेस्ट से जुड़ी गाइडलाइन के उल्लंघन करने के लिए मामला दर्ज कराया है। अब इस मामले में दिल्ली मेडिकल असोसिएशन ने भी अपनी प्रतिकियां दी है। जिसके बाद केजरीवाल सरकार और मेडिकल असोसिएशन आमने- सामने आ गए हैं।

कोरोना संकट के बीच कल से खुलेंगे धार्मिक स्थल/शॉपिंग मॉल्स, जानें कैसी है दिल्ली की तैयारी

DMA ने केजरीवाल के कदमों का किया विरोध
दिल्ली मेडिकल असोसिएशन (Delhi Medical Association) ने इसे लेकर आवाज उठाई है और सरकार के कदमों का विरोध किया है। डीएमए ने कहा कि जिस तरह से दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल कोरोना वायरस के मरीजों को भर्ती करने और उनका टेस्ट करने के लिए डॉक्टरों को चेतावनी दे रहे हैं और अस्पतालों को धमका रहे हैं उसकी हम कड़ी निंदा करते हैं। इसके साथ ही DMA ने सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ दर्ज किए गए एफआईआर की भी निंदा की है।

दिल्ली: कोरोना काल में राहत भरी खबर! पिछले 24 घंटे में वायरस से नहीं हुई कोई मौत

डॉक्टरों के साथ व्यवहार अपमानित करने वाला
डीएमए अध्यक्ष की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इस महामारी संकट के समय जो डॉक्टर अपनी जान को खतरे में डालकर पिछले 2 महीनों से बिना थके दिल्ली के लोगों की सेवा कर रहे हैं उनके साथ जिस तरह का व्यवहार हो रहा है उससे वो अपमानित महसूस कर रहे हैं।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल में तैनात इंस्पेक्टर की हुई संदिग्ध हालत में मौत, कार में मिला शव

निजी अस्पतालों को CM केजरीवाल ने दी चेतावनी
 अस्पतालों की लापरवाही को देखते हुए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने शनिवार को प्राइवेट अस्पतालों को सख्त चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 मरीजों को ‘भर्ती करने से मना करने’ और बिस्तरों की कालाबाजारी करने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सभी निजी अस्पतालों को अपने 20 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व रखने होंगे और अस्पताल  कोरोना मरीज का इलाज करने से बिल्कुल भी मना नहीं करेंगे।

गंगा राम अस्पताल के खिलाफ FIR दर्ज
दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के खिलाफ कथित रूप से कोविड-19 (Covid19) के नियमन संबंधी मानकों का उल्लंघन करने के लिये मामला दर्ज किया गया है। दिल्ली सरकार की शिकायत पर पुलिस ने यह प्राथमिकी दर्ज की है। प्राथमिकी के अनुसार शिकायतकर्ता दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग में वरिष्ठ अधिकारी है। सर गंगाराम अस्पताल की ओर से इस मामले पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.