Thursday, May 06, 2021
-->
delhi ncr air pollution safar aqi ministry of environment forest and climate change

दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर, जानें आज का AQI

  • Updated on 11/21/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में हवा की गुणवत्ता का स्तर बहुत खराब बना हुआ है। यह मुद्दा संसद से सड़क तक चल रहा है और हवा है कि शांत होने जा रही है। हवाओं के रुख से पराली (Parali) ने दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर (NCR) में एक्यूआई (AQI) बढ़ा दिया, जिससे लोगों को एक बार फिर से परेशानियां होने लगी हैं। उम्मीद की जा रही है कि यह शुक्रवार तक गंभीर श्रेणी में पहुंच सकती है।

दिल्ली के प्रदूषण से निपटेगा केंद्र, CNG में हाईड्रोजन मिलाने की तैयारी

पराली का प्रदूषण में 14 प्रतिशत हिस्सा रहा
हालांकि एक्यूआई गंभीर तभी होगा, जब हवाओं की रफ्तार पूर्वानुमान के अनुसार धीमी पड़ जाए और पराली का धुआं भी दिल्ली-एनसीआर की ओर पहुंचे। क्योंकि पंजाब, हरियाणा में सेटेलाइट से मिली फोटो में पराली जलाने के मामलों में वृद्धि देखी गई है। सफर के मुताबिक पिछले सप्ताह के मुकाबले अधिक होने के बावजूद हवाओं की रफ्तार कम होने से आज पराली का प्रदूषण में 14 प्रतिशत हिस्सा रहा।

दिल्ली के अधिकांश इलाके प्रदूषण बहुत खराब श्रेणी में
हालांकि पूर्वी व उत्तरी हवाओं के चलते संभव है कि वीरवार को पराली के धुएं का असर दिल्ली में अधिक प्रभावशाली न हो। पराली से प्रदूषण भी सात प्रतिशत तक गिर सकता है। सफर ने पूर्वानुमान जताया है कि शनिवार से हवा तेज होती हैं तो राहत मिलेगी। आज दिल्ली के अधिकांश इलाके लाल रंग में बहुत खराब श्रेणी में दिखाई दिए।

पराली जलाने से संबंधित योजना पर 1151 करोड़ रूपए खर्च का प्रावधान रखा
वहीं राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में हालांकि पर्यावरण एवं जलवायु मंत्री बाबुल सुप्रीयो ने बताया कि दिल्ली में पराली का असर 7 नवम्बर से 31 अक्तूबर के बीच 2 से 46 प्रतिशत तक रहा है। राज्यसभा सांसद एनडी गुप्ता ने अपने प्रश्न के जवाब में आए तथ्यों को साझा किया। केंद्र सरकार ने बताया है कि पंजाब, हरियाणा में पराली जलाने से संबंधित योजना पर केंद्र सरकार ने करीबन 1151 करोड़ रूपए खर्च का प्रावधान रखा है।

 

comments

.
.
.
.
.