Monday, Sep 27, 2021
-->
delhi-police-got-support-maharashtra-ats-regarding-suspected-terrorists-caught-rkdsnt

पकड़े गए संदिग्ध आतंकियों को लेकर दिल्ली पुलिस को महाराष्ट्र एटीएस का मिला साथ

  • Updated on 9/15/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र के आतंकवाद-रोधी दस्ते (एटीएस) ने बुधवार को दावा किया कि दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए संदिग्ध आतंकवादी जान मोहम्मद शेख के करीब 20 साल पहले‘डी कंपनी’के साथ संबंध थे। भगोड़े अंडरवल्र्ड डॉन दाउद इब्राहिम के गिरोह के लिए‘डी कंपनी’शब्द का उपयोग किया जाता है। 

 जावेद अख्तर मानहानी मामले में कोर्ट ने कंगना रनौत को दी वारंट जारी करने की चेतावनी

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पाकिस्तान सर्मिथत आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से प्रशिक्षण पाए दो आतंकियों समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था।      उन्होंने बताया कि आतंकी कथित तौर पर त्योहारों के दौरान दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र समेत देश भर में धमाके करने की साजिश रच रहे थे। 

डीएमआरसी मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उत्साह में अनिल अंबानी

गिरफ्तार लोगों में से शेख मुंबई का रहने वाला है। मुंबई पुलिस और एटीएस के अधिकारियों ने उसकी गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को परिवार के सदस्यों से पूछताछ की थी। पुलिस ने कहा था कि इस आतंकी साजिश के पीछे पाकिस्तान में रह रहे दाउद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम का हाथ था। महाराष्ट्र एटीएस के प्रमुख विनीत अग्रवाल ने बुधवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि शेख‘’डी कंपनी का गुर्गा‘’था और तब उसे सीमा पार से निर्देश मिलते थे। अधिकारी ने कहा कि उन्हें करीब 20 साल पहले शेख के डी-कंपनी से संबंध होने के बारे में पता चला था। 

पीएम मोदी ने साझा की अलीगढ़ से जुड़ी अपनी पुरानी यादें

उन्होंने कहा कि उस समय शेख के खिलाफ शहर में गोलीबारी और तोड़-फोड़ से जुड़े मामले में पायधनी पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। साथ ही कहा कि अन्य आरोपियों के साथ ही शेख भी पुलिस के रडार पर था। महाराष्ट्र एटीएस के अधिकारी ने कहा कि शेख के ठिकानों की तलाशी लेने पर कोई हथियार या विस्फोटक सामग्री नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि एटीएस का दल शेख से पूछताछ के लिए दिल्ली जाएगा और दिल्ली पुलिस के साथ संबंधित जानकारी साझा करेगा।      

 

comments

.
.
.
.
.