Monday, Oct 25, 2021
-->
delhi policemen angry with arvind kejriwal aap for favoring lawyers

वकीलों की मारपीट से नाराज पुलिसकर्मियों ने केजरीवाल पर साधा निशाना

  • Updated on 11/5/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। वकीलों की मारपीट से नाराज पुलिसकर्मियों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। नाराज पुलिसकर्मियों का आरोप है कि केजरीवाल वकीलों के साथ तो नजर आ रहे हैं, लेकिन पीड़ित पुलिसकर्मियों को लेकर वे चुप हैं। बता दें कि केजरीवाल और उनकी पार्टी ने वकीलों के पक्ष को तो सुना लेकिन दिल्ली पुलिस को दरकिनार कर गए। केजरीवाल ने घायल वकीलों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है, लेकिन वे पीड़ित पुलिसकर्मियों के खिलाफ नजर आए। 

मुकुल रॉय की गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण की अवधि कलकत्ता हाई कोर्ट ने बढ़ायी

अमित शाह के बेटे जय शाह की आय को लेकर कांग्रेस ने बोला बड़ा हमला

इससे पहले पुलिसकर्मियों द्वारा प्रदर्शन करने की अभूतपूर्व घटना के चलते दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक को उनसे ड्यूटी पर लौटने का अनुरोध करना पड़ा था। पुलिसकर्मियों और वकीलों के बीच तनाव के हालात शनिवार से बनने शुरू हो गए थे जब पार्किंग को लेकर हुई झड़प में कम से कम 20 पुलिसकर्मी और कई वकील घायल हो गए थे।

चिन्मयानंद प्रकरण : #BJP के दो नेताओं के पास से मिली पीड़िता से छीनी गई पेन ड्राइव

प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मी बड़ी संख्या में आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय के बाहर जमा हुए। इसके बाद यातायात धीमा पड़ गया। ऐसे में पटनायक अपने कार्यालय से बाहर आए और उन्होंने पुलिसकर्मियों को आश्वस्त किया कि उनकी चिंताओं पर ध्यान दिया जाएगा।  पटनायक ने कहा, ‘‘हमें एक अनुशासित बल की तरह व्यवहार करना होगा। सरकार और जनता हमसे कानून व्यवस्था को कायम रखने की उम्मीद रखती है, यह हमारी एक बड़ी जिम्मेदारी है। मैं अनुरोध करता हूं कि आप लोग काम पर लौट जाएं।’’ 

महाराष्ट्र की सियासत को लेकर सोनिया से मिले पवार, बोले- नहीं पता आगे क्या होगा

उन्होंने मुख्यालय के बाहर एकत्रित हुए पुलिसकर्मियों से कहा, ‘‘बीते कुछ दिन हमारे लिए परीक्षा की घड़ी रहे हैं। न्यायिक जांच चल रही है और मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप प्रक्रिया में भरोसा बनाए रखें।’’ दिल्ली पुलिस में 80,000 से अधिक कर्मी हैं। प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मियों ने काली पट्टियां बांध रखी थीं और वे न्याय की मांग करते हुए नारे लगा रहे थे। दिल्ली पुलिस के समस्त शीर्ष अधिकारी उन्हें शांत करने का प्रयास कर रहे थे। 

RCEP समझौते में शामिल नहीं होगा भारत, कांग्रेस बोली- दबाव काम आया

पुलिसकर्मियों ने तख्तियां ले रखी थीं जिन पर लिखा था, ‘‘पुलिस वर्दी में हम इंसान हैं,’’ ‘‘हम पंचिंग बैग नहीं हैं’’ और ‘‘रक्षा करने वालों को सुरक्षा की जरूरत’’। उन्होंने अपने वरिष्ठों से अनुरोध किया कि वर्दी का सम्मान बचाने की खातिर वे उनके साथ खड़े रहें। एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल घायल वकीलों से मुलाकात करने तो पहुंचे लेकिन इस घटना में घायल हमारे साथियों से मिलने नहीं पहुंचे। क्या यह अन्यायपूर्ण नहीं है।’’ 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.