Tuesday, Apr 07, 2020
delhi pollution aqi fog cold temperature

दिल्ली में प्रदूषण स्तर काफी खराब, देरी से चल रही है 14 ट्रेनें

  • Updated on 1/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण (Pollution) आज काफी खराब स्तर पर पहुंच चुका है, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) के आंकड़ों के अनुसार रोहिणी में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 391, आनंद विहार में 371 और मुंडका में 337 तक पहुंच चुका है, ये तीनों बहुत ही खराब श्रेणी में हैं। वहीं कोहरे के कारण 14 ट्रेनें देरी से चल रही हैं।

दिल्ली चुनाव: CAA वापस लेने की मांग पर अमित शाह के सामने युवक की पिटाई

राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में दिन भर ठंड रहेगी 
मौसम वैज्ञानिकों ने दिन भर आसमान साफ रहने की सुबह मध्यम कोहरा (Fog) रहने का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में दिन भर ठंड (Cold) रहेगी और अधिकतम तापमान 15 डिग्री
सेल्सियस के आस-पास रहने की उम्मीद है।

ब्लेम गेम से थक चुकी जनता इस बार कांग्रेस की सरकार- शर्मिष्ठा मुखर्जी अध्यक्ष दिल्ली महिला कांग्रेस

मौसमी स्थितियों की वजह से ट्रेनें देरी से चल रही
दिल्ली में अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान (Temperature) 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रेलवे ने कहा कि उत्तरी क्षेत्र में प्रतिकूल मौसमी स्थितियों की वजह से 14 ट्रेनें पौने दो से पौने सात घंटे तक की देरी से चल रही हैं। नांदेड़ से अमृतसर जाने वाली सचखंड एक्सप्रेस करीब सात घंटे की देरी से चल रही है जबकि डिब्रूगढ़ से दिल्ली के बीच चलने वाली डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस तीन घंटे की देरी से चल रही है।

दिल्ली चुनाव: अगर खो गया है ओरिजनल वोटर आईडी कार्ड, तो फोटो कॉपी से भी डाल सकेंगे वोट- CEO

दिल की बीमारी में लगभग 15 से 20 फीसदी की बढ़ोतरी
दिल्ली में अखिल भारतीय आयुविज्ञान संस्थान एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) के मुताबिक ओपीडी या आपातकालीन विभाग में आने वाले सांस या दिल की बीमारी के मामलों में लगभग 15 से 20 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

बजट सत्र में सरकार को घेरने के लिए सोनिया गांधी के घर आज होगी कांग्रेस की बैठक

ब्रोंकाइटिस होने का खतरा
गुलेरिया ने कहा दिल्ली में ठंड फिलहाल पहाड़ी क्षेत्रों से भी ज्यादा पड़ रही है और तापमान में गिरावट के साथ ओपीडी में मरीजों की संख्या में लगभग 15-20 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि ऐसे ठंडे मौसम में लोगों को ध्यान रखना चाहिए क्योंकि ब्रोंकाइटिस हो सकता है जबकि बच्चों और बुजुर्गों को निमोनिया हो सकता है।

दिल्ली चुनाव: BJP को मत देने से शाहीन बाग जैसी हजारों घटनाओं पर लगेगा फुल स्टॉप- शाह

दिल की बीमारी वाले लोगों को ज्यादा जोखिम
गुलेरिया ने कहा कि दिल की बीमारी वाले लोगों को भी इस मौसम में जोखिम ज्यादा रहता है। उन्होंने बताया कि कुछ लोग हाइपोर्थिमया की स्थिति का भी सामना कर सकते हैं जब शरीर द्वारा पैदा की जाने वाली उष्मा से कहीं ज्यादा तेजी से शरीर की उष्मा घटती है, जिससे शरीर का तापमान खतरनाक रूप से कम हो जाता है।  

comments

.
.
.
.
.