delhi pollution manoj tiwari saurabh bhardwaj delhi politics cm kejriwal

तिवारी के बयान पर भारद्वाज का तंज- BJP शासित प्रदेशों में केजरीवाल ने बढ़ाया प्रदूषण

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली में प्रदूषण (Delhi Pollution) कम होने की रिपोर्ट आने के बाद से इस मुद्दे पर सियासत चरम पर है। दिल्ली बीजेपी (Delhi BJP) के अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) का कहना है कि राजधानी से प्रदूषण कम होने का श्रेय बीजेपी को जाता है। इस पर आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज (Saurabh Bhardwaj) उन पर तीखा कटाक्ष किया है। 

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने मनोज तिवारी के बयान पर तीखा व्यंग्य किया और कहा, मनोज तिवारी की बात से सहमत हैं। दिल्ली का सारा प्रदूषण कम करने का श्रेय बीजेपी को जाता है। मगर नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम में बढ़ते प्रदूषण का कारण केजरीवाल ही हैं, क्योंकि वो योगी को और मनोहर खट्टर को काम नहीं करने देते। 

'दिल्ली में 25 प्रतिशत कम हुआ प्रदूषण', CM केजरीवाल ने निगम और केंद्र को भी दिया धन्यवाद

'पराली जलाने के कारण दिल्ली में बढ़ेगा प्रदूषण'
अभी नवंबर में पराली जलाने के कारण दिल्ली का प्रदूषण बढ़ेगा, दिल्ली गैस चैंबर बन जाएगी। वो दिल्ली के अधिकार क्षेत्र से बिल्कुल बाहर है, अगर उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में पराली जलाना कुछ कम हो सके तो केंद्र सरकार नैतिक रूप से बधाई की पात्र होगी। 

प्रदूषण को लेकर गोयल का केजरीवाल पर प्रहार, कहा- एयर प्यूरीफायर खरीदने को मजबूर

बीजेपी प्रशासित प्रदेशों में प्रदूषण
भारद्वाज ने आगे कहा कि साल 2019 की वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया से 10 सबसे प्रदूषित शहरों में 7 भारत में हैं। हैरानी की बात है कि सारे के सारे बीजेपी शासित प्रदेश हैं। इनके नाम गुरुग्राम,  नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद, भिवाड़ी, लखनऊ, पटना हैं। आशा है बीजेपी अपने राज्यो में भी थोड़ा काम करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.