Friday, Feb 26, 2021
-->
Delhi Polution air quality index stubble burning sohsnt

दिल्ली में जारी है प्रदूषण का कहर, कई इलाकों में छाई रही स्मॉग की परत

  • Updated on 12/5/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना महामारी की तीसरी लहर के बीच दिल्ली में प्रदूषण (Delhi Pollution) की समस्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। राष्ट्रीय राजधानी में आज सुबह स्मॉग की परत छाई दिखी है। दिल्ली के  मुकुंदपुर इलाके में विजिबिलिटी कम होने के कारण सड़कों पर गाड़ियां चलाने में भी लोगों को काफी सावधानी बरतनी पड़ रही है।

NGT का प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली में सड़कों की सफाई के पहले पानी छिड़कने का निर्देश


दिल्ली सरकार को नोटिस जारी
दिल्ली में प्रदूषण की समस्या को लेकर केंद्र सरकार ने एक बार फिर दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है। हाल ही में केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि दिल्ली में वायु की गुणवत्ता अभी भी बहुत खराब श्रेणी में है, जबकि अब पराली जलना बंद हो चुकी है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है, बायोमास जलने और धूल जैसे प्रदूषण के कारणों पर कार्रवाई करने के लिए कहा है।  

किसान आंदोलन को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताने पर सिसोदिया ने कैप्टन को लिया आड़े हाथ

वहीं दिल्ली सरकार के डायलॉग और डटेलेपमेंट कमीशन और विधि सेंटर फॉर लीगल पॉलिसी ने दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए एक राणनीतिक साझेदारी की है। 3 दिसंबर को हुए एमओयू के अनुसार दोनो संस्थान दिल्ली एनसीआर में  वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए नीति और कानूनी सुधारों का सुझाव देने और उनका विश्लेषण करने के लिए मिलकर काम करेंगे।

कोरोना वैक्सीन मिलने पर कुछ ही हफ्तों में पूरी दिल्ली को लगाने की है क्षमता- सत्येंद्र जैन

प्रदूषण नियंत्रम के लिए दिल्ली सरकार ने उठाए कदम
डीडीसीडी के उपाध्यक्ष जस्मीन शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्तव में दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषम को नियंत्रित करने के लिए कई क्रांतिकारी कदम उठाए हैं। जिसमें पराली समाधान के लिए पूसा इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित वायो डीकंपोजर तकनीक का इस्तेमाल दिल्ली इलेक्ट्रकि व्हीकल्स पॉलिसी और ऑड ईवन स्कीम जैसे प्रमुख कदम शामिल हैं। 

कपिल मिश्रा ने लिखा राष्ट्रपति को पत्र, कहा- केजरीवाल सरकार बैनर लगाकर दिल्ली में बुला रही भीड़

गुरुवार को 249 जगह जलती दिखी पराली
सफर के वैज्ञानिकों के अनुसार रविवार को हवाओं की रफ्तार बढ़ने के बाद संभव है कि प्रदूषण स्तर में सुधार हो। हालांकि गुरुवार को पराली जलने के मामले 249 नजर आए और इससे दो प्रतिशत प्रदूषण स्तर में वृद्धि दिखाई दी। धीमी गति की हवाओं और कम तापमान के कारण प्रदूोषक धरातल के निकट बने हुए हैं, जिससे प्रदूषण का स्तर बढ़ा हुआ है। केंद्र सरकार की दिल्ली के लिए वायु गुणवत्ता पूर्व चेतावनी प्रणाली ने बताया कि वायु गुणवत्ता के शनिवार तक बेहद खराब श्रेणी में बने रहने की आशंका है। हालांकि वैज्ञानिकरों ने यह अनुमान पहले व्यक्त किए थे कि चार दिसंबर से 7 दिसंबर के बीच हवा का स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंच सकता है। 

comments

.
.
.
.
.