Sunday, Jul 05, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 4

Last Updated: Sat Jul 04 2020 10:03 PM

corona virus

Total Cases

672,595

Recovered

408,591

Deaths

19,276

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA200,064
  • NEW DELHI97,200
  • TAMIL NADU86,224
  • GUJARAT35,398
  • UTTAR PRADESH24,056
  • RAJASTHAN19,256
  • WEST BENGAL17,907
  • ANDHRA PRADESH17,699
  • HARYANA15,732
  • TELANGANA15,394
  • KARNATAKA14,295
  • MADHYA PRADESH13,861
  • BIHAR10,392
  • ODISHA8,601
  • ASSAM7,836
  • JAMMU & KASHMIR7,237
  • PUNJAB5,418
  • KERALA4,312
  • UTTARAKHAND2,831
  • CHHATTISGARH2,795
  • JHARKHAND2,426
  • TRIPURA1,385
  • GOA1,251
  • MANIPUR1,227
  • LADAKH964
  • HIMACHAL PRADESH942
  • PUDUCHERRY714
  • CHANDIGARH490
  • NAGALAND451
  • DADRA AND NAGAR HAVELI203
  • ARUNACHAL PRADESH187
  • MIZORAM151
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS97
  • SIKKIM88
  • DAMAN AND DIU66
  • MEGHALAYA51
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
delhi riots 2020 bsp chief mayawati attack on central and delhi government

मायावती ने दिल्ली हिंसा को लेकर केजरीवाल-शाह पर साधा निशाना

  • Updated on 2/27/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में बीते चार दिनों में हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस हिंसा को लेकर बहुजन समाज पार्टी (BSP) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने केंद्र और दिल्ली सरकार पर निशाना साधा है। इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को सुझाव दिया है।

#DelhiRiots2020: अब तक 35 की मौत, नाले से मिले दो और शव

CM केजरीवाल को दी सलाह
मायावती ने कहा कि दिल्ली हिंसा की आड़ में राजनीतिक दल गंदी राजनीति खेल रहे हैं। केंद्र को किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप के बिना पुलिस और सिस्टम को स्वतंत्र रूप से काम करने देना चाहिए। वहीं मायावती ने कहा कि दिल्ली सीएम को भी दूसरे राज्यों में राजनीति करने की बजाए दिल्ली में स्थिति सामान्य करने के लिए बड़ी भूमिका निभानी चाहिए।

दिल्ली में हिंसा को लेकर मायावती भी बैचेन, कहा- उच्चस्तरीय जांच हो

मायावती ने कही ये बात
बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि दिल्ली में भड़के दंगों ने दिल्ली सहित पूरे देश को हिला कर रख दिया है। वर्तमान में सूरत दंगे की आड़ में जो घिनौनी राजनीति की जा रही है जिसे पूरा देश भी देख रहा है उससे सभी पार्टियों को बचना चाहिए। इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार को पुलिस व प्रशासन को कानून व्यवस्था सुधारने के लिए पूरी आजादी से काम करने का मौका देना चाहिए। बीजेपी सहित सभी पार्टियों को देश में भड़काऊ बयानबाजी करने वाले अपने बड़े नेताओं पर पार्टी स्तर पर भी कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

दिल्ली हिंसा मामलों की सुनवाई करने वाले जस्टिस मुरलीधर का तबादला, उठे सवाल

उत्तरपूर्वी दिल्ली के दंगाग्रस्त इलाकों में दुकानें बंद
उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) के दंगाग्रस्त इलाकों में हिंसा की छिटपुट घटनाएं दर्ज की गई। जाफराबाद, मौजपुर, चांदबाग, गोकुलपुरी और आसपास के इलाकों में शांति रही लेकिन खौफ और दहशत का माहौल अभी बना हुआ। गुरुवार को मरने वाले लोगों की संख्या 35 पर पहुंच गई। ज्यादातर दुकानें बंद रही और उनके दरवाजों पर हिंसा के निशान साफ देखे जा सकते हैं जिसने पिछले कुछ दिनों से लोगों को खौफजदा कर दिया है।

जज के ट्रांसफर पर आगबबूला कांग्रेस, मोदी सरकार पर लगाए कई आरोप

दंगाग्रस्त इलाकों से मिले 19 फोन
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने एक दिन पहले इन इलाकों का दौरा किया और लोगों को भी आश्वस्त किया कि सुरक्षा बल उनके साथ खड़े हैं। रविवार से हो रही हिंसा को रोकने के लिए पुलिस ने फ्लैग मार्च किए और भारी संख्या में सुरक्षा कर्मी उत्तर पूर्वी जिले में तैनात हो गए। दिल्ली दमकल सेवा के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि दिल्ली दमकल सेवा को दंगाग्रस्त इलाकों से गुरुवार को आधी रात से सुबह आठ बजे तक 19 फोन मिले।

उन्होंने बताया कि इलाके में 100 से अधिक दमकलकर्मी तैनात हैं और इलाके के सभी चार दमकल केंद्रों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए दमकल की अतिरिक्त गाड़ियां दी गई और वरिष्ठ अधिकारी निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ अधिकारी दंगा प्रभावित इलाकों में डेरा डाले हुए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.