Wednesday, Jan 19, 2022
-->
Delhi''s problems should have been discussed: Ramvir Singh Bidhuri

दिल्ली की समस्याओं पर चर्चा होनी चाहिए थी: रामवीर सिंह बिधूड़ी

  • Updated on 11/26/2021


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने विधानसभा सत्र में दिल्ली से जुड़ी समस्याओं पर चर्चा न होने पर गहरा रोष प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि सत्र में दिल्ली की समस्याओं पर चर्चा होनी चाहिए थी। लेकिन दिल्ली सरकार ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण, नई शराब नीति, डीजल पर टैक्स कम करने और दिल्ली के किसानों की दुर्दशा पर चर्चा करना जरूरी नहीं समझा।

कृषि बिल वापसी के बाद विशेष सत्र का कोई मतलब नहीं था उन्होंने सदन में उपस्थित मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री से जवाब मांगा कि दिल्ली में इस साल किसानों की कृषि योग्य भूमि में बरसात का पानी भरने और उनकी फसल तबाह होने पर अब तक मुआवजा क्यों नहीं दिया गया। उन्होंने बताया कि लेकिन अपने जवाब में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने इन बातों का कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अगर कृषि बिलों पर ही चर्चा करनी थी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया जाना चाहिए था क्योंकि देश के 11 करोड़ किसानों के खातों में अब तक 93 हजार करोड़ रुपया पहुंचाया जा चुका है। उन्होंने साफ कहा कि  कृषि बिल वापसी  के बाद विशेष सत्र का कोई मतलब नहीं था।

डीडीए के पार्क में कला व संस्कृति के लिए होगी बुकिंग, कंपनियां ले सकेंगी जगह 

 बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली सरकार ने केंद्र की उन योजनाओं को दिल्ली में लागू नहीं किया जो किसानों के भले में है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने किसानों से किए वादों को भी पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ  जहां दिल्ली सरकार ने केंद्र की मोदी सरकार की योजनाओं को दिल्ली में लागू नहीं होने दिया, वहीं दिल्ली सरकार किसानों को एमएसपी पर 50 फीसदी अतिरिक्त राशि देने की घोषणा को लागू नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में लालडोरा, जमीन पर मुआवजा, कृषि संयंत्रों पर सबसिडी, किसानों मुफ्त बिजली, अल्टरनेटिव प्लॉट और किसानों के उत्तराधिकारियों को जमीन पर अधिकार नहीं दिए गए। 

 

comments

.
.
.
.
.