Tuesday, Sep 25, 2018

दिल्ली के किशोर ने ऋषिकुल विद्यापीठ में लगाई फांसी

  • Updated on 9/14/2018

हरिद्वार/ब्यूरो। हरिद्वार ऋषिकुल विद्यापीठ स्थित  ब्रह्मचर्य छात्रावास में आठवीं कक्षा के छात्र ने संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। छात्र दिल्ली का रहने वाला है और करीब पन्द्रह दिन पहले ही उसके दादा जी का देहांत हुआ था। शव हॉस्टल के बरामदे में लटका हुआ मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। हॉस्टल के छात्रों से भी पूछताछ की जा रही है।

ऋषिकुल विद्यपीठ में पंद्रह वर्षीय दीपेश शर्मा निवासी शिव विहार, दिल्ली निवासी विद्यापीठ में पढ़ता था। बीती रात करीब दो बजे उसने अपनी धोती को फंदा बनाकर फांसी लगा ली। विद्यापीठ के बच्चों ने सुबह देख कर शोर मचाया। छात्र विद्यापीठ की ओर से पुलिस को सूचना दी गई। बाद में पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को नीचे उतारा। 

मूसलाधार बारिश से सनेह के कुंभीचौड़ में आवासीय मकान ढहा, दूसरे मकान पर बना खतरा

मायापुर चौकी प्रभारी गिरीश चंद्र ने बताया ​कि कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। परिजनों से बात हुई है। उनके अनुसार कुछ दिन पहले ही उसके दादा जी का निधन हुआ था और वह  दिल्ली आया हुआ था। फिर दिल्ली से वह हरिद्वार चला गया था। वह अपने  पूछताछ के दौरान ये जानकारी लगी कि दादा के निधन और दिल्ली से लौटने के बाद दीपेश बेहद गुमशुम रहता था। 

पुलिस हर एंगल पर जांच कर रही है। हॉस्टल में रहने वाले उसके सहपाठियों ने बताया कि घर से लौटने के बाद वो गुमसुम सा रहने लगा था। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का पता लग सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.